बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

वेतन निर्धारण: बीआरसी में कागजात जमा करने में जुटे मूल वेतन में 15 प्रतिशत वृद्धि के साथ वेतन निर्धारण होगी ।

वेतन निर्धारण: बीआरसी में कागजात जमा करने में जुटे मूल वेतन में 15 प्रतिशत वृद्धि के साथ वेतन निर्धारण होगी ।

पंचायती राज संस्थानों के माध्यम से नियुक्त प्रारंभिक शिक्षक सेवा पुस्तिका को अपडेट कर इसे बीआरसी पर जमा कराने के कार्य में जुटे हैं। मंगलवार को सदर गोपालगंज बीआरसी से लेकर जिले के अन्य प्रखंड के बीआरसी पर डेमो वेतन पर्ची के सत्यापन व सेवा पुस्तिका के साथ अन्य कागजात जमा कराने का काम दिनभर चलता रहा। सदर बीआरसी पर कोरोना प्रोटोकॉल के पालन के लिए शिक्षकों के कागजात व सेवा पुस्तिका जमा करने को लेकर सिर्फ प्रधानाध्यापकों को ही आने की इजाजत दी गई थी। उल्लेखनीय है कि डीपीओ ने पूर्व में पत्र जारी कर सभी बीईओ को वेतन पर्ची के अनुमोदन से पहले अपने स्तर से शिक्षकों की डेमो वेतन पर्ची निकलवाकर विद्यालय अभिलेख / मूल सेवा पुस्तिका से जांच करने व इसके बाद हस्ताक्षर कर मूल सेवा पुस्तिका वेतन पर्ची के साथ स्थापना कार्यालय में जमा करने का निर्देश दिया था।डीपीओ ने इस आशय का प्रमाण पत्र भी देने का निर्देश सभी बीईओ को दिया था कि शिक्षकों के वेतन निर्धारण में किसी प्रकार की कोई त्रुटि नहीं है।

यह भी पढ़ें - शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कहा 31 जनवरी के बाद राज्य के सभी स्कूल खुलवा दिए जाएंगे।

साथ में कहा था कि किसी भी स्थिति में शिक्षक हाथों-हाथ सेवा पुस्तिका डीपीओ कार्यालय में स्वयं जमा नहीं करेंगे। सेवा पुस्तिका व डेमो वेतन पर्ची समेत अन्य कागजात बीआरसी के माध्यम से डीपीओ स्थापना कार्यालय में जमा कराए जाएंगे। इसी को लेकर शिक्षकों के संबंधित कागजात व सेवा पुस्तिका अपडेट कर सत्यापन के बाद इसे बीआरसी पर जमा करने का निर्देश प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों की ओर से दिया गया है। जिसके लिए शिक्षक से लेकर प्रधानाध्यापक तक जुटे हैं। दक्षता अनुतीर्ण शिक्षकों का वेतन निर्धारण होगा मैनुअली: गोपालगंज। दक्षता अनुतीर्ण शिक्षकों को वेतन निर्धारण को लेकर टेंशन में रहने की जरूरत नहीं। उनका भी 15 फीसदी वृद्धि के साथ वेतन का निर्धारण होगा लेकिन कैलकुलेटर के माध्यम से नहीं, बल्कि मैनुअली । पंचायती राज संस्थानों के माध्यम से नियुक्त प्रारंभिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षक व पुस्तकालयाध्यक्षों के मूल वेतन में 15 प्रतिशत वृद्धि के साथ वेतन निर्धारण की चल रही प्रक्रिया के दौरान इसको लेकर माध्यमिक शिक्षा के निदेशक सह विशेष सचिव ने पत्र जारी कर निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के वेतन निर्धारण: 25 तक ऑनलाइन दावा-आपत्ति दर्ज करा सकेंगे व पोर्टल पर डेमो वेतन पर्ची हुई जारी।

उन्होंने कहा है कि दक्षता अनुतीर्ण शिक्षक मूल वेतन पर ही रहेंगे और ऐसे शिक्षकों का एक अप्रैल 2021 को प्राप्त मूल वेतन में 15 प्रतिशत वृद्धि कर वेतन निर्धारण किया जाएगा। ऐसे शिक्षकों को एक जनवरी से कोई वेतनवृद्धि नहीं दी जाएगी। तत्काल इनका वेतन निर्धारण मैनुअली किया जाएगा। साथ में निदेशक ने ऐसे शिक्षकों की सूची संबंधित निदेशालय को उपलब्ध कराने का निर्देश शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिया है। वहीं, अनुकंपा के आधार पर या हाई कोर्ट के आदेश पर एक अप्रैल 2021 के बाद नियुक्त शिक्षकों का वेतन निर्धारण भी मैनुअली ही करने का निर्देश निदेशक ने दिया है।उधर, माध्यमि व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत वैसे अप्रशिक्षित शिक्षक जो सेवाकालीन प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं, उनका अप्रशिक्षित शिक्षकों के रूप में वेतन निर्धारण होगा। यह वेतन निर्धारण भी मैनुअली होगा, ऑनलाइन कैलकुलेटर से नहीं ।इसके अलावा भी वेतन निर्धारण को लेकर कई निर्देश माध्यमिक शिक्षा के निदेशक सह विशेष सचिव ने दिए हैं।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक 27 से अपनी पे स्लिप कर सकेंगे जेनरेट सुविधा

27 से वेतन पर्ची जारी करने का काम मुश्किल।
प्रखंडों के बीआरसी पर शिक्षकों की सेवा पुस्तिका व अन्य कागजात काफी कम प्रधानाध्यापक जमा कर सके। बुधवार को गणतंत्र दिवस ही है। ऐसे में 27 जनवरी से वेतन निर्धारण कर शिक्षकों की वेतन पर्ची जारी करने का काम शुरू होना मुश्किल ही लग रहा है। वेतन निर्धारण को लेकर माध्यमिक शिक्षा के निदेशक सह विशेष सचिव की ओर से तिथि निर्धारित की गई है। इसके अनुसार जिला शिक्षा विभाग कार्यालय द्वारा पोर्टल पर शिक्षकों का डाटा अपलोड करने के
बाद इसमें त्रुटि से पर 21 से 25 जनवरी तक ऑनलाइन पोर्टल पर दावा-आपत्ति दर्ज कराई जानी है। वहीं, दावा आपति के निराकरण के बाद शिक्षकों व पुस्तकालयाध्यक्षों की वेतन पर्ची शिक्षा विभाग के स्थापना डीपीओ के अनुमोदन व डिजिटल हस्ताक्षर से 27 जनवरी से जारी की जानी है। पुस्तकालयाध्यक्षों का जनवरी 2022 का वेतन भुगतान पुनरीक्षित दर पर किया जाएगा। अबतक न सभी शिक्षक कागजात व सेवा पुस्तिका बीआरसी पर जमा करा पाए हैं।


Buy Amazon Product