बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूचीनियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूची राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहरराज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहर सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतनसरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतन 80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन  इसे जल्द कर ले80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन इसे जल्द कर ले शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारी राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आरामराज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

नो बैग योजना का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज करेंगे शुभारंभ
पटना
शिक्षा रा विभाग की ओर से 11 नवंबर को स शिक्षा दिवस समारोह का आयोजन ए राजधानी के श्रीकृष्ण मेमोरियल व हाल में किया जाएगा। इस समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्कूलों में शनिवार को नो बैग योजना का शुभारंग करेंगे। अब स्कूली बच्चे शनिवार को बिना बैग के स्कूल आएंगे। इस दिन बच्चे केवल खेलेंगे। वहीं मुख्यमंत्री द्वारा स्वच्छ विद्यालय पोर्टल का भी शुभारंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री द्वारा जयंती समारोह में ही बच्चों को पोशाक एवं किताब के लिए भेजी जाने वाली राशि उनके एकाउंट में भेज दी जाएगी। मुख्यमंत्री द्वारा विद्यालय निरीक्षण एप का भी शुभारंभ किया जाएगा। इस अवसर पर वित्त मंत्री नीतीश कुमार एवं शिक्षा मंत्री प्रो. चंद्रशेखर सहित कई गणमान्य अतिथि शामिल होंगे। इस वर्ष किसी को शिक्षा विभाग की ओर से मौलाना अबुल कलाम शिक्षा पुरस्कार नहीं दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने शिक्षकों के लिए जारी कर दिया पत्र 15 तारीख तक मिल जाएगा फाइनल

सरकारी स्कूलों के बच्चों के खातों में सीएम आज डीबीटी से भेजेंगे प्रोत्साहन राशि
प्रदेश में आज से शुरू होगा पढ़ाई का 'बैगलेस शनिवार' कार्यक्रम
1)श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में शिक्षा दिवस कार्यक्रम में करेंगे शिरकत करेंगे मुख्यमंत्री। 
2)इस साल मौलाना अबु आजाद सम्मान किसी भी शिक्षाविद को नहीं दिया जायेगा। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शिक्षा दिवस पर शुक्रवार को 76 लाख से अधिक सरकारी स्कूलों के बच्चों के खाते में डीबीटी के जरिये 2022-23 से संबंधित छात्रवृत्ति एवं लाभुक योजनाओं की प्रोत्साहन राशि भेजेंगे. देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद के जन्म दिन पर सुबह 11 बजे श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में वित्त मंत्री विजय कुमार चौधरी और शिक्षा मंत्री प्रो चंद्रशेखर विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे. आधिकारिक जानकारी के मुताबिक इस समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 'बैगलेस शनिवार' की शुरुआत करेंगे. इस तरह प्रत्येक शनिवार को बिहार के सरकारी स्कूलों के सभी बच्चे बिना बस्ते के स्कूल आयेंगे।

यह भी पढ़ें - हाईकोर्ट जाएंगे नियोजित शिक्षक नियमित शिक्षकों के तरह मिलना चाहिए ग्रेच्युटी एवं ईएल का लाभ

 इस दिन केवल अनौपचारिक तरीके से पढ़ाई करायी जायेगी. इसी कार्यक्रम में शैक्षणिक सत्र 2022-23 से संबंधित स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए पोर्टल का शुभारंभ भी वह करेंगे । इसके अलावा विद्यालय निरीक्षण के लिए बनाये गये बेस्ट प्लस एप की लांचिंग भी मुख्यमंत्री करेंगे. इस दौरान उच्च शिक्षा निदेशक डॉ रेखा कुमारी की किताब का विमोचन किया जायेगा. इसके अलावा मुख्यमंत्री खुदाबख्श ऑरिएंटल पब्लिक लाइब्रेरी के माध्यम से आयोजित मौलाना अबुल कलाम आजाद से संबंधित प्रदर्शनी भी देखेंगे. उल्लेखनीय है कि इस साल शिक्षा दिवस के अवसर पर राज्य के सर्वोच्च शिक्षा पुरस्कार मौलाना अबुल कलाम आजाद सम्मान किसी भी शिक्षाविद को नहीं दिया जायेगा. सम्मान की चाह में करीब दो दर्जन से अधिक आवेदन आये. हालांकि, पुरस्कार की कसौटी पर कोई शिक्षाविद खरे नहीं उतरे


Buy Amazon Product