बड़ी खबरें

DA News : महंगाई भत्ते में हो सकती है 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें कब से होगा लागू, इन लोगों को मिलेगा लाभDA News : महंगाई भत्ते में हो सकती है 4 फीसदी की बढ़ोतरी, जानें कब से होगा लागू, इन लोगों को मिलेगा लाभ शिक्षा विभाग के निर्देशक मनोज कुमार एवं शिक्षा मंत्री का आया संयुक्त बयान पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के निर्देशक मनोज कुमार एवं शिक्षा मंत्री का आया संयुक्त बयान पत्र हुआ जारी नियोजित शिक्षकों का वेतन हुआ जारी 2 महीने का वेतन एवं एरियर मिलाकर ₹1,00,000 से ₹1,30,000 तक मिलेगा 10 दिन के अंदर। नियोजित शिक्षकों का वेतन हुआ जारी 2 महीने का वेतन एवं एरियर मिलाकर ₹1,00,000 से ₹1,30,000 तक मिलेगा 10 दिन के अंदर। तबादले की मांग लेकर शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू शिक्षा विभाग के अधिकारी क्या बोले सुन लीजिए। तबादले की मांग लेकर शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू शिक्षा विभाग के अधिकारी क्या बोले सुन लीजिए। नियोजित शिक्षकों के 3 माह के वेतन का हुआ आवंटन 15% वृद्धि का एरियर एवं वेतन का लिस्ट हुआ जारी एक मुश्त होगा भुगतान।नियोजित शिक्षकों के 3 माह के वेतन का हुआ आवंटन 15% वृद्धि का एरियर एवं वेतन का लिस्ट हुआ जारी एक मुश्त होगा भुगतान। सबसे बड़ी खुशखबरी 15 अगस्त से सभी कर्मचारियों के साथ शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना हो जाएगी लागू।सबसे बड़ी खुशखबरी 15 अगस्त से सभी कर्मचारियों के साथ शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना हो जाएगी लागू।

शिक्षक हो जाए सतर्क शिक्षा अधिकारियों पर कार्रवाई हुआ शुरू।

शिक्षक हो जाए सतर्क शिक्षा अधिकारियों पर कार्रवाई हुआ शुरू।

शिक्षा विभाग ने दो प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों पर काररवाई की है। इनमें एक पर सेवानिवृति के बाद हुई काररवाई के तहत दो प्रतिशत पेंशन की कटौती का दंड अधिरोपित किया है, जबकि दूसरे को असंचयात्मक प्रभाव से दो वेतन वृद्धि पर रोक का दंड दिया गया है।
सेवानिवृत्त प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अरुण प्रकाश पर दो प्रतिशत पेंशन की कटौती का दंड अधिरोपित करने को काररवाई बिहार पेंशन नियमावली के नियम 43 (ख) के तहत की गयी है। इससे संबंधित आदेश प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रणजीत कुमार सिंह के हस्ताक्षर से जारी हुआ है।
विभाग ने जारी किया आदेश टीका नहीं लेने वाले शिक्षक स्कूल में प्रवेश से होंगे वंचित।


आदेश के मुताबिक श्री प्रकाश जब कटिहार जिले के फलका प्रखंड के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी थे, तो प्राथमिक शिक्षा निदेशक द्वारा उप संचयो प्रभाव से एक वेतन वृद्धि स्थगित करने का दंड अधिरोपित किया गया था, जिसका अनुपालन नहीं करते हुए उनके द्वारा उक्त वेतन वृद्धि का लाभ लेकर वेतन निर्धारित कर वेतन की निकासी की गयी। इस मामले में उनके विरुद्ध बिहार पेंशन नियमावली के नियम 43 (ख) के तहत विभागीय कार्यवाही संचालित की ।

इसमें पाया गया कि उनके द्वारा अपने पदीय दायित्वों का गलत उपयोग करते हुए उक्त वेतन वृद्धि का लाभ लिया गया एवं अधिक वेतन की निकासी की गयी। दूसरी ओर कटिहार जिले के ही आजमनगर के तत्कालीन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी संतोष कुमार का असंचयात्मक प्रभाव से दो वेतन वृद्धि पर रोक का दंड अधिरोपित करते हुए उनके खिलाफ चल रही विभागीय कार्यवाही को निष्पादित किया गया है। यह काररवाई बिहार सरकारी सेवक (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियमावली, 2005 के तहत की गयी। हैं।

इससे संबंधित आदेश प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रणजीत कुमार सिंह के हस्ताक्षर से जारी हुआ है।
इस बीच मुजफ्फरपुर जिले के बोचहा के तत्कालीन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी श्रीमती संगीता कुमारी, जो सम्प्रति भागलपुर जिले के सबौर की प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी हैं, को आरोप से मुक्त किया गया है। इससे संबंधित आदेश प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रणजीत कुमार सिंह के हस्ताक्षर से जारी हुआ है।


Buy Amazon Product