बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूचीनियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूची राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहरराज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहर सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतनसरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतन 80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन  इसे जल्द कर ले80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन इसे जल्द कर ले शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारी राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आरामराज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को विद्यांजलि पोर्टल पर पंजीयन करना होगा पत्र हुआ जारी।

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को विद्यांजलि पोर्टल पर पंजीयन करना होगा पत्र हुआ जारी।

उपर्युक्त विषयक प्रासंगिक पत्रों (संलग्न) के आलोक में अंकित करना है कि शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के प्रावधानों के अनुपालन हेतु विद्यांजलि 2.0 कार्यक्रम तैयार किया गया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य विद्यालय स्तर पर सामुदायिक और स्वैच्छिक भागीदारी के माध्यम से स्कूल शिक्षा की गुणवत्ता में धनात्मक परिवर्तन लाना है । विद्यांजलि 2.0, एक स्वयंसेवी प्रबंधन कार्यक्रम है, जो भारत के नागरिकों/गैर आवासीय भारतीय / भारतीय मूल के व्यक्ति या भारत में पंजीकृत कोई संगठन /संस्था/कम्पनी/समूह को सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में सुझायी गयी गतिविधियों में भाग लेकर सेवाएँ प्रदान करने तथा निःशुल्क परिसंपत्ति / सामग्री / उपकरण प्रदान करने को प्रोत्साहित करता है।

ज्ञातव्य हो कि भारत सरकार द्वारा विकसित विद्यांजलि 2.0 कार्यक्रम से संबंधित मार्गदर्शिका राज्य परियोजना निदेशक, बिहार शिक्षा परियोजना परिषद् के पत्रांक Quality / 166/2021 22/6650, दिनांक 26.10.2021 के माध्यम से उपलब्ध कराया जा चुका है।

यह भी पढ़ें - अधिक गर्मी पड़ने के कारण बुधवार से सरकारी विद्यालय संचालन में हो गया परिवर्तन अब इतने बजे विद्यालय हो जाएंगे बंद।

इस कार्यक्रम अन्तर्गत सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों को समुदाय तथा विभिन्न स्वयंसेवकों से जोड़ने के लिए शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा विद्यांजलि वेब पोर्टल https://vidyanjali.education.gov.in विकसित किया गया है, जो सभी हितधारकों के बीच एक वातावरण निर्माण कर सके एवं विद्यालय शिक्षा के लिए उनका सहयोग प्रदान कर सके। परन्तु जिलों के अपेक्षित ध्यान नहीं देने के कारण दिनांक 06 जून, 2022 तक राज्य के मात्र 9770 विद्यालयों के द्वारा ही विद्यांजलि 2.0 पोर्टल पर पंजीयन किया गया है, जिसका जिलावार विवरण अनुलग्नक - 1 के रूप में संलग्न है।

अतएव इस महत्वाकांक्षी योजना को सफल बनाने हेतु राज्य के सभी सरकारी/सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों में विद्यांजलि 2.0 कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए निम्नवत् अनुवर्ती कार्रवाई अपेक्षित है :-

(1) विभाग के सभी पदाधिकारियों के साथ विषय-वस्तु पर व्यापक समीक्षा के उपरांत सभी सरकारी / सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों का दिनांक 31 जुलाई 2022 तक विद्यांजलि पोर्टल (https://vidyanjali.education.gov.in) पर पंजीयन कराया जाय।

यह भी पढ़ें - GOB एवं SSA से वेतन पाने वाले नियोजित शिक्षकों के लिए 9 अरब 45 लाख हुए आवंटित अब इतने तारीख को ही होगा भुगतान।

(2) सभी सरकारी सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों का दिनांक 31 जुलाई, 2022 तक पंजीयन सुनिश्चित कराने के लिए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं प्रखंड साधन सेवी के बीच विद्यालयों का बँटवारा करते हुए प्रत्येक कार्य दिवस के लिए न्यूनतम लक्ष्य निर्धारित किया जाय।

( 3 ) विद्यांजलि 2.0 कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाय। साथ ही जिला स्तर पर आहूत बैठकों एवं प्रखंड स्तर पर आहूत गुरूगोष्ठियों में एक एजेण्डा के रूप में इस पर चर्चा की जाय ताकि अधिक से अधिक हितधारकों की सहभागिता सुनिश्चित हो सके।

(4) सभी सरकारी / सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों के विद्यालय शिक्षा समिति (Vss) / स्कूल प्रबंधन एवं विकास समिति (SMDC) की बैठक में प्रत्येक विद्यालय के द्वारा अपनी आवश्यकताओं का दिनांक 31 अगस्त, 2022 आकलन किया जाएगा एवं इसे हर हाल में दिनांक 05 सितम्बर, 2022 अथवा इसके पूर्व विद्यांजलि पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा।

यह भी पढ़ें - पीएफ के ब्याज दर में हुई बढ़ोतरी इस महीने के अंत तक खाते में जाएंगे पैसा आप भी अपना जान लें।

(5) जिला स्तर पर इच्छुक व्यक्ति स्वयं सेवक / स्वयं सेवी संस्था / संस्थान इत्यादि को आमंत्रित करके उन्हें विद्यालयों की आवश्यकताओं के आधार पर अपने योगदान (Contribution) के लिए पोर्टल पर प्रस्ताव अपलोड करने हेतु प्रोत्साहित किया जाय । साथ ही योगदान के लिए प्राप्त प्रस्ताव पर संबंधित विद्यालय शिक्षा समिति / स्कूल प्रबंधन एवं विकास समिति के द्वारा त्वरित निर्णय लेते हुए उनका योगदान प्राप्त किया जाएगा।

अतः निदेश दिया जाता है कि जिला स्तर पर उपरोक्त के आलोक में त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित की जाय।


Buy Amazon Product