बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

समान काम समान वेतन व पुरानी पेंशन योजना लागू को लेकर धरना प्रदर्शन के दौरान आ गई सबसे अच्छी खबर

समान काम समान वेतन व पुरानी पेंशन योजना लागू को लेकर धरना प्रदर्शन के दौरान आ गई सबसे अच्छी खबर

पटना। प्राथमिक शिक्षकों ने पुरानी पेंशन योजना, समान वेतन एवं समान सेवा शर्त की मांग को लेकर शनिवार को सभी जिला मुख्यालयों में धरना दिया।

अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के निर्णय के अनुरूप बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ ने जिला मुख्यालयों पर धरना का आह्वान किया था। यहां गर्दनीबाग में धरना दिया गया। धरनार्थियों को संबोधित करते हुए बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष ब्रजनंदन शर्मा ने कहा कि जब तक सरकार शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ नहीं दे देती, स्थानीय निकाय द्वारा नियुक्त शिक्षकों को नए शिक्षकों के भांति वेतनमान एवं सेवा शर्त नहीं दे देती तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

संगठन के कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि सरकार नयी शिक्षा नीति से शिक्षा एवं शिक्षक विरोधी प्रावधानों को शीघ्र हटाये एवं सातवें वेतन आयोग के अनुशंसा का लाभ शिक्षकों को दे, अन्यथा सम्पूर्ण देश के शिक्षक दिनांक 15 नवंबर को राज्य मुख्यालयों पर एवं 30 जनवरी को दिल्ली में जंतर मंतर पर धरना देंगें। पूर्व सांसद डॉ. अरुण कुमार ने शिक्षकों के मांगों का समर्थन किया। धरना का नेतृत्व पटना मंडल प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रधान सचिव मिथिलेश शर्मा, अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह तथा वरीय उपाध्यक्ष कमलेश कुमार एवं विजय शर्मा ने किया। वक्ताओं में दीनानाथ शर्मा, विमल कुमार, नीरज कुमार कमल एवं श्रीमती बिन्दु पाण्डेय के नाम उल्लेखनीय हैं।

यह भी पढ़ें - खुशखबरी खुशखबरी खुशखबरी पंचायत व नगर निकाय के नियोजित शिक्षकों के पदोन्नति पर लग गया मुहर कुछ ही दिन के भीतर हो जाएंगे प्रधान शिक्षक या प्रधानाध्यापक

बच्चों की थाली में बिच्छू ग्रामीणों ने किया हंगामा

1)ग्रामीणों के हंगामे से मची रही अफरातफरी। 

2) एचएम ने खाने में बिच्छू मिलने से किया इंकार कर लिया गया। 

विभूतिपुर । विभूतिपुर प्रखंड के उत्क्रमित उच्च विद्यालय महथी टोले आलमपुर में शनिवार को एक बच्चे के खाने की थाली में बिच्छू मिलने पर ग्रामीणों ने स्कूल पहुंच हंगामा किया। इससे स्कूल  में अफरातफरी मची रही। हालांकि एचएम नवीन कुमार झा खाने में बिच्छू मिलने की बात से इंकार किया है। उन्होंने बताया कि दोपहर बच्चा खाना लेकर अपने घर चला गया था।

वहां से आकर थाली में बिच्छू होने की बात कही। उन्होंने बताया कि इसके बाद शिक्षा समिति और अभिभावकों की बैठक कर समस्या का समाधान  इधर ग्रामीणों का कहना था कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक व रसोईया की लापरवाही के कारण नौनिहाल के जान पर पड़ जाती । ग्रामीणों ने इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। वहीं बीईओ इसकी सूचना देकर दोषी पर कार्रवाई करने की मांग की है। 

यह भी पढ़ें - कैबिनेट से आई बड़ी खबर शिक्षकों की प्रोन्नति पर शिक्षा मंत्री के अनुमोदन के बाद कैबिनेट में जाएगी प्रस्ताव अनुमोदन के बाद लगेगा अंतिम मोहर


नियोजन के लिए विज्ञप्ति की मांग

ट्विटर पर सीटीईटी, बीटेट अभ्यर्थियों का मुद्दा देश के टॉप ट्रेंड में रहा

पटना। बिहार प्रारंभिक युवा शिक्षक संघ के आह्वान पर प्रदेश के सीटीईटी, बीटेट पास शिक्षक अभ्यर्थियों ने ट्विटर के माध्यम से आंदोलन किया। शिक्षक अभ्यर्थियों का मुद्दा देश के टॉप ट्रेंड मुद्दों में शामिल रहा। पूरे राज्य के कुल पांच लाख से अधिक शिक्षक अभ्यर्थियों ने ट्वीट कर सरकार से सातवें चरण की प्राथमिक विज्ञप्ति जारी करने की मांग की। हैश टैग रिलीज अंडरस्कोर प्राइमरी अंडरस्कोर नोटिफिकेशन पूरे भारत में घंटों टॉप ट्रेंडिंग मुद्दों में रहा। ट्विटर अभियान का नेतृत्व बिहार प्रारंभिक युवा शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष दीपांकर गौरव व नितेश पांडे ने बताया कि 3 साल से तमाम योजनाओं के बावजूद शिक्षक अभ्यर्थी सड़क पर हैं।

यह भी पढ़ें - शिक्षा मंत्री और निर्देशक सचिव असंगबा चुबा आओ ने 72 हजार सरकारी स्कूलों के लिए कर दिए नए नियम लागू

प्रदेश संयोजक कुमार सत्यम व प्रवक्ता अनीश सिंह ने बताया कि लगातार आंदोलन होने के वावजूद शिक्षा विभाग हमारी मांगों को अनसुना कर रहा है। सुप्रिया प्रीतम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि हम हमारा हक मांगते हैं, नहीं किसी से भीख मांगते महिला प्रदेश अध्यक्ष पुष्पलता यादव ने शिक्षा विभाग से अभ्यर्थियों की मांगों को सहानुभूतिपूर्वक विचार कर नोटिफिकेशन जारी करने की मांग की। बताते चलें कि सातवें चरण के प्राथमिक विज्ञप्ति जारी करने को लेकर शिक्षक अभ्यर्थी लगातार आंदोलनरत हैं पिछले दिनों 24 दिन तक गर्दनीबाग धरना स्थल पर धरना देशव्यापी मुद्दा बना था। ट्विटर अभियान में दीपक क्षत्रिय, मीकू पाल, ऋषव राज, अतुल आनंद, हरेकृष्ण प्रकाश, जागृति प्रिया, चांदनी शर्मा, कुंदन, विकास शर्मा, विट्ट, प्रेमशंकर, प्रशांत, बालभगवान, कृष्णा, अमित झा, निशांत, कफील, दिनेश सहित पूरे बिहार के शिक्षक अभ्यर्थी शामिल थे।


Buy Amazon Product