बड़ी खबरें

अब तक की सबसे बड़ी खुशखबरी प्राथमिक से लेकर हाईस्कूल तक नए वेतनमान के साथ ग्रेड पे मिलेंगे।

अब तक की सबसे बड़ी खुशखबरी प्राथमिक से लेकर हाईस्कूल तक नए वेतनमान के साथ ग्रेड पे मिलेंगे।

प्राथमिक से हाई स्कूल तक नियुक्ति प्रक्रिया बदलने की तैयारी, नए वेतनमान के साथ ग्रेड पे दिया जाएगा नियुक्ति में दूसरे राज्यों के मॉडल लागू होंगे।
झारखंड में प्राथमिक से लेकर हाई स्कूल तक शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया में बदलाव होगा। राज्य सरकार इसकी तैयारी कर रही है। सरकार राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के मॉडल को अपना सकती है।

इस वक्त की सबसे बड़ी खबर बिहार के साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों को मिलेंगे पुराने वेतनमान समान वेतन एवं स्थानांतरण।

 

इसमें प्राथमिक से लेकर हाई स्कूल के शिक्षकों को 5200-20200 के वेतनमान के साथ 2400 और 2800 का ग्रेड पे मिलेगा। पहली से पांचवीं तक के प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति में 5200-20200 का वेतनमान और 2400 का ग्रेड पे दिया जाएगा।

इस आधार पर इन्हें हर महीने 25,500 रुपए मिलेंगे। वहीं, मिडिल और हाईस्कूल के शिक्षकों को नए वेतनमान के साथ 2800 का ग्रेड पे मिलेगा। उन्हें हर महीने 29 हजार रुपए वेतन मिलेंगे।
मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में पहली से पांचवीं और छठी से आठवीं के शिक्षकों के लिए 5200 से 20200 का वेतनमान निर्धारित है, पर ग्रेड पे अलग- अलग है।

सरकार ने प्रस्ताव पारित किया पढ़ाई के साथ कमाई भी ।

पहली से पांचवी में नियुक्त होने वाले शिक्षकों को कनीय शिक्षक-1 के नाम से जाना जाता है और उन्हें वेतनमान के साथ 2400 काग्रेड पे मिलता है। हर महीने उन्हें वेतन के रूप में 25,500 रुपए मिलते हैं।
वहीं, छठी से आठवीं के कनीय-2 के शिक्षकों को 2800 का ग्रेड पे दिया जाता है और उन्हें हर माह 29200 मिलते हैं। आठ साल की सेवा के बाद पहली से पांचवीं के शिक्षकों का ग्रेड पे 4200 जाता है और उन्हें 35,400 रुपए वेतन के रूप में मिलने लगते हैं। वहीं, आठ साल बाद छठी से आठवीं के शिक्षकों का ग्रेड पे 4800 हो जाता है और उन्हें 47,800 रुपए हर माह वेतन मिलते हैं।

शिक्षा मंत्री के आग्रह पर पारा शिक्षकों का आंदोलन खत्म।
रांची। राज्य के 65 हजार शिक्षकों ने 10 फरवरी को मुख्यमंत्री आवास के घेराव कार्यक्रम को स्थगित कर दिया है। रविवार को शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा से आंदोलन वापस लेने की फोन पर अपील की थी। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि वे

झारखंड लौटने और स्वस्थ होने के बाद पारा शिक्षकों के लिए काम करेंगे। इस पर एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने राज्य के सभी पारा शिक्षकों से धैर्य रखने की अपील की है। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के झारखंड लौटने के बाद पारा शिक्षकों का दल उनसे मिलेगा और उसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ पारा शिक्षकों की वार्ता हुई थी। इसमें मुख्यमंत्री ने उनकी मांगों पर विचार करते हुए आंदोलन स्थगित रखने की अपील की थी। इस पर पारा शिक्षकों ने आंदोलन जारी। 

वेतनमान की है मांग पारा शिक्षकों की स्थायीकरण वेतनम की मांग प्रमुख है। पारा शिक्षकों के स्थायीकरण और नियमावली तैयार करने को लेकर गठित कमेटी ने पूर्व - ही प्रस्ताव पर सहमति प्रदान कर दी इसमें 5200 से 20 हजार 200 वेतनमान और 2000 से 2400 का पे दिया जाना है। इसमें टेट पास सभी 11 हजार पारा शिक्षकों को वेतनमान का लाभ मिल सकेगा। वहीं, बाकी पा शिक्षकों को तीन बार वेतनमान के लि परीक्षा देने का मौका मिलेगा। 

जो पार शिक्षक उस परीक्षा में पास नहीं करें उन्हें नहीं हटाया जाएगा। रखने का मन बनाया था। पारा शिक्षक ने 17 जनवरी को जहां सता पक्ष के सभी विधायकों के आवास के बाहर, वहीं 24 जनवरी को मंत्रियों के आवा के बाहर धरना प्रदर्शन किया था।


Buy Amazon Product