बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

सबसे बड़ी खबर बीईओ के बाद डीईओ भी नहीं बच रहे शिक्षक मामला हाईकोर्ट तक पहुंचा।

सबसे बड़ी खबर बीईओ के बाद डीईओ भी नहीं बच रहे शिक्षक मामला हाईकोर्ट तक पहुंचा।

मुफस्सिल थाना के विनोदपुर निवासी परिवादी प्रखंड शिक्षक अजय कुमार पासवान ने अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अधिनियम के तहत एससी एसटी न्यायालय में जिला शिक्षा पदाधिकारी रजनीकांत प्रवीण सहित पांच अन्य अज्ञात के विरुद्ध संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करायी है. परिवादी शिक्षक ने आरोपित जिला शिक्षा पदाधिकारी पर आरोप लगाया है कि परिवादी के सेवाकाल के दौरान वर्ष 2021 के फरवरी माह में आरोपित द्वारा बिना किसी सूचना के एकाएक वेतन बंद कर दिया. इस आदेश के विरुद्ध परिवादी हाईकोर्ट में वेतन प्राप्त के लिए हाइकोर्ट में रिट दाखिल किया है तुम एक लाख दो मैं तुम्हारा वेतन चालू कर दूंगा और हाइकोर्ट से केस वापस कर लो वरना मैं तुम्हारा नियोजन रद्द करने के लिए ऊपर लिखूंगा. परिवादी ने इस पर विरोध जताया. इस पर आरोपित ने आग बबूला होकर परिवादी को जाति का नाम लेकर गाली-गलौज और मारपीट की. इस मामले की सुनवाई विशेष न्यायाधीश अरुण कुमार एससी एसटी न्यायालय बेगूसराय में चल रही है. आपको बता दें कि परिवादी ने आरोपित जिला शिक्षा पदाधिकारी रजनीकांत प्रवीण के विरुद्ध अंतर्गत धारा 323, 341, 504, 506 भारतीय दंड विधान 1 एवं अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अधिनियम के तहत यह मैं परिवाद पत्र दायर किया है।

यह भी पढ़ें - डीईओ-डीपीओ को शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने तीन दिन की मोहलत दी, जान ले पूरी माजरा क्या है?

आयोग से मिलेगी अनुमति तो होगी काउंसलिंग।
राज्य में 94 हजार प्रारंभिक शिक्षकों की बहाली के लिए तीसरे चरण की काउंसलिंग के लिए राज्य निर्वाचन आयोग से अनुमति लेने की शिक्षा विभाग की तैयारी है । पंचायत चुनाव को लेकर लागू आचार संहिता के मद्देनजर काउंसलिंग के लिए राज्य निवाचन आयोग की अन, मति जरूरी है । अगर राज्य निर्वाचन आयोग की अनुमति मिल गयी, तो शिक्षा विभाग काउंसलिंग का शिड्यूल जारी करेगा। दो चरण की काउंसलिंग में जिन नियोजन इकाइयों की काउंसलिंग रद्द या स्थगित की गयी, उन्हीं नियोजन इकाइयों के लिए तीसरे चरण में काउंसलिंग होनी है । जानकारों की मानें, तो तीसरे चरणमें जिन नियोजन इकाइयों के लिए काउंसलिंग होनी है, उन नियोजन इकाइयों में प्रारंभिक शिक्षकों के तकरीबन ग्यारह हजार पद हैं । आपको याद दिला दूं कि शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी की पहल पर राज्य में तकरीबन 94 हजार प्रारंभिक शिक्षकों की नियुक्ति के लिए दो चरण  काउंसलिंग हुई। पहले  चरण में उन नियोजन इकाइयों के लिए काउंसलिंग हुई, जिनमें छूटे हुए दिव्यांग अभ्यर्थियों के आवेदन नहीं पड़े थे। दूसरे चरण में उन नियोजन इकाइयों के लिए काउंसलिंग हुई, जिनमें छूटे हुए दिव्यांग अभ्यर्थियों के आवेदन पड़े थे । पहले चरण की काउंसलिंग गत पांच जुलाई से शुरू होकर।

यह भी पढ़ें - मामला एसडीओ एवं एसडीपीओ तक पहुंचा शिक्षा विभाग में मच गई खलबली क्या होगा अब ?

टीईटी शिक्षकों ने दी आंदोलन की चेतावनी।
पटना  | टीईटी शिक्षक अपनी मांगों को लेकर आंदोलन पर उतरेंगे। टीईटी संगठनों के बीच एकता स्थापित करने के लिए रविवार को यहां रेड क्रॉस सोसाइटी के सभागार में बैठक हुई। एकता स्थापित करने के लिए चार शिक्षकों की एक कमेटी बनायी गयी इसमें प्रभात रंजन, सौरभ भरद्वाज, मुजीबुर रहमान एवं मधुरेन्द्र भारती शामिल किये गये हैं । कमेटी आंदोलनात्मक रूप-रेखा तय करेगी तथा संगठनों के बीच समन्वय कायम करेगी । बैठक में हिस्सा लेने वालों में अमरदीप डिसूजा, विजय सिंह, आकाश, नेहा सिंह, संजय कुमार सिंह, विकास रंजन वर्मा, सुधीर कुमार सिंह, अजीत कुमार यादव, अमरनाथ सिंह, बृजेश कुमार, रंजीत कुमार, सौरभ भारद्वाज, प्रदीप कुमार झा, शशि रंजन, राकेश रंजन देव, मिथिलेश कुमार राम एवं कमलेंद्र सिंह राक्षस के नाम उल्लेखनीय हैं। बैठक में टीईटी शिक्षकों का अलग संवर्ग बनाने, राज्यकर्मी का दर्जा देने, प्रधान शिक्षकों की नियुक्ति में टीईटी अनिवार्य करने, प्रधान शिक्षकों की नियुक्ति में टीईटी शिक्षकों के लिए शिक्षण अनुभव की बाध्यता समाप्त करने, टीईटी पास कर बिहार में शिक्षक के रूप में सेवा देने वाले शिक्षकों को भी प्रधान शिक्षकों की बहाली में शामिल करने तथा प्रखण्ड साधन सेवी एवं संकुल संसाधन केंद्र समन्वयकों के पदों पर बिहार लोक सेवा आयोग के माध्यम से नियुक्ति की मांग की गयी ।


Buy Amazon Product