बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

मुख्य सचिव ने जारी किया जहां अगले महीने से सभी शिक्षक, डॉक्टर और आंगनवाड़ी का बायोमेट्रिक से हाजिरी बनना हो जाएगा शुरू जाने विस्तार से नीतीश ने कैसे खेल खेला

मुख्य सचिव ने जारी किया जहां अगले महीने से सभी शिक्षक, डॉक्टर और आंगनवाड़ी का बायोमेट्रिक से हाजिरी बनना हो जाएगा शुरू जाने विस्तार से नीतीश ने कैसे खेल खेला

पटना। राज्य के सभी सरकारी कार्यालयों और सभी शैक्षणिक संस्थानों में एक जून से वायोमीट्रिक तरीके से उपस्थिति दर्ज होगी। इसको लेकर मुख्य सचिव आमिर सुवहानी ने सभी डीएम के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग कर समीक्षा की। मुख्य सचिव ने वैठक के दौरान कहा कि राज्य में सचिवालय से लेकर प्रखंड सह अंचल कार्यालयों में वायोमीट्रिक तरीके से उपस्थिति दर्ज करने की व्यवस्था को एक जून से लागू करने का निर्णय लिया गया है। वेहतर लोक सेवा के नजरिए से यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने इस व्यवस्था को सभी स्तर पर कार्यप्रणाली के सुदृढ़ीकरण के दृष्टिकोण से इसे आवश्यक बताया। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा आने वाले दिनों में क्रमश: इस व्यवस्था को सभी सरकारी कार्यालयों और शैक्षणिक संस्थानों में लागू करने की योजना है। मालूम हो कि राज्य सरकार के सचिवालयों और विधान मंडल के दोनों सदनों में यह व्यवस्था पहले ही लागू की गयी थी। व्यवस्था सफल नहीं हो पायी थी सरकार ने फिर से वायोमीट्रिक तरीके से उपस्थिति दर्ज कराने की व्यवस्था लागू करने जा रही है।

यह भी पढ़ें - लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी प्रधानाध्यापक एवं प्रधान शिक्षक के BPSC से बहाली में नियम में हुआ बदलाव अब सब को मिलेगा फायदा।

 

50 हजार प्रधानाध्यापक व प्रधान शिक्षक नियुक्ति होंगे

• आवेदन 21 अप्रैल तक सुधार 30 तक संभव

• उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 6421 पदों पर नियुक्ति

 

पटना। राज्य के उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक व प्राथमिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति होगी। दोनों मिलाकर लगभग 50 हजार नियुक्ति होनी है। इनमें उच्च माध्यमिक के लिए 6421 व प्राथमिक के लिए 42 हजार पदों के लिए बीपीएससी परीक्षा लेगा।

 

आयोग के अनुसार अभ्यर्थी 21 अप्रैल तक आवेदन कर सकते हैं। वहीं आवेदन में 30 अप्रैल तक सुधार कर सकते हैं। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि अब तक साढ़े 12 हजार शिक्षकों ने ऑनलाइन आवेदन किया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के EPFO राशि का गबन करने का आरोप पदाधिकारियों पर लगा राशि का भुगतान कैसे होगा जान ले?

 

पहली बार 6421 प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति परीक्षा के आधार पर होगी। महिला उम्मीदवारों के लिए 2179 पद सुरक्षित होंगे। इसके पहले साक्षात्कार और अनुभव के आधार पर प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति होती रही है। इसमें वरीयता के आधार पर प्रभारी प्राचार्यों की नियुक्ति होती रही है। आयोग की ओर से परीक्षा में हए बदलाव की सूचना को वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिया गया है। उच्च माध्यमिक विद्यालय में कम से कम आठ वर्ष का अनुभव होना चाहिए। माध्यमिक विद्यालयों में दस वर्षों का अनुभव चाहिए। साथ ही सीबीएसई, बीएसईबी और आईसीएसई से स्थायी संबद्धता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय में 12 वर्ष रेगुलर सेवा जरूरी होगा।

यह भी पढ़ें - राज्यकर्मियों के के साथ नियोजित शिक्षकों को महंगाई भत्ते में तीन फीसदी की बढ़ोतरी मिला बड़ा तोहफा 31% से 34% हुआ DA

 

परीक्षा में ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति के लिए लिखित परीक्षा में 150 प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे। जिसमें सामान्य अध्ययन से 100 अंक एवं बीएड कोर्स से संबंधित 50 अंकों की परीक्षा होगी। प्रत्येक प्रश्न के लिए एक अंक निर्धारित है, प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक काटे जाएंगे।


Buy Amazon Product