बड़ी खबरें

 राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी सुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिलीसुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिली शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं

साढे तीन लाख नियोजित शिक्षकों को 15%वेतन वृद्धि की शिक्षा मंत्री ने दी बधाई ₹4000 सैलरी में होगी वृद्धि एरियर का एकमुश्त होगा भुगतान।

साढे तीन लाख नियोजित शिक्षकों को 15%वेतन वृद्धि की शिक्षा मंत्री ने दी बधाई ₹4000 सैलरी में होगी वृद्धि एरियर का एकमुश्त होगा भुगतान।

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने वेतन वृद्धि पर पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को बधाई दी है। शिक्षा मंत्री श्री चौधरी ने कहा है कि शिक्षा विभाग ने अपना वायदा पूरा किया है। यह शिक्षकों के लिए नये साल का अग्रिम तोहफा है। दीपावली एवं छठ पर बकाये। वेतन का भुगतान किया गया। अब एक अप्रैल, 2021 के प्रभाव से मूल वेतन में 15 फीसदी की एकमुश्त वृद्धि की गयी है। शिक्षा मंत्री श्री चौधरी ने कहा है कि | शिक्षक संतुष्ट रहेंगे, तभी स्कूलों में शैक्षिक माहौल बनेगा। सारे शिक्षक योग्य हैं। उन्होंने शिक्षकों से अपेक्षा की है कि स्कूलों में बेहतर शैक्षिक माहौल बनायेंगे। मूल वेतन में 15 फीसदी राशि की वृद्धि से राज्य में प्रारंभिक - विद्यालयों से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालयों के 3.5 लाख पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों की सैलरी - औसतन चार हजार रुपये प्रतिमाह बढ़ - जायेगी। आपको याद दिला दूं कि पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को एक अप्रैल - 2021 से मूल वेतन में 15 प्रतिशत की वृद्धि का फैसला कैबिनेट ने 18 अगस्त, ने - 2020 को ही लिया था। 

यह भी पढ़ें - 11 लाख सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा एक और अन्य भत्ता सैलरी में होगी भारी उछाल कैलकुलेशन के मुताबिक देख ले आपका कितना बढ़ेगा ।

कैबिनेट की - बैठक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की - अध्यक्षता में हुई थी। वर्तमान में • पंचायतीराज संस्थानों एवं नगर निकाय संस्थानों के अंतर्गत कार्यरत शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों की संख्या लगभग 3.5 लाख है। इससे पहले एक जुलाई 2015 को वेतन में 20 प्रतिशत की वृद्धि, वर्ष 2017 में 7वें वेतन आयोग के अनुशंसा के अनुरूप वेतन में 17 प्रतिशत की वृद्धि और वर्तमान में 15 प्रतिशत की वृद्धि पंचायतीराज संस्थानों एवं नगर निकाय संस्थानों अंतर्गत कार्यरत शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को दी गयी है। खैर, एक अप्रैल-2021 से पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के मूल वेतन में 15 प्रतिशत की वृद्धि के कैबिनेट के फैसले के बाद 29 अगस्त, 2020 को इससे संबंधित संकल्प भी जारी हो गया। इसके अनुरूप एक अप्रैल-2021 से पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के मूल वेतन में 15 प्रतिशत की वृद्धि के भुगतान के लिए वेतन निर्धारण के प्रस्ताव के साथ शिक्षा विभाग ने मार्च में ही संचिका वित्त विभाग को भेजी थी।

यह भी पढ़ें - राज्य के सरकारी स्कूलों के लिए शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने जारी कर दिया निर्देश जान ले क्या है?

 वित्त विभाग के परामर्श के बाद एक अप्रैल, 2021 से बढ़े वेतन के भुगतान के लिए शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को आदेश जारी किया है। इसके लिए पे-मैट्रिक्स भी जारी हुई। है। पे मैट्रिक्स में पूर्व से प्राप्त मूल वेतन में 1.15 से गुणा कर जो राशि आयेगी, उसे पे मैट्रिक्स के सापेक्ष अथवा ठीक उपर के लेबल के अनुसार निर्धारित करते हुए एक अप्रैल, 2021 से वित्तीय लाभ अनुमान्य किया जाना है। भत्तों का भुगतान पूर्व की भांति ही होना है। जिन शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के मूल वेतन का निर्धारण होना है, उन्हें वार्षिक वेतनवृद्धि का लाभ एक जनवरी, 2022 से देय होगा। पे मैट्रिक्स में वेतन निर्धारण में यदि किसी शिक्षक-पुस्तकालयाध्यक्ष का मूल वेतन अपने से कनीय शिक्षक पुस्तकालयाध्यक्ष से कम निर्धारित हो, तो उनका मूल वेतन कनीय शिक्षक के मूल वेतन के अनुरूप निर्धारित किया जाना है। वेतन निर्धारण के लिए ऑनलाइन कैलकुलेटर तैयार किया जा रहा है। लेकिन, मूल वेतन में 15 फीसदी की वृद्धि से भत्तों के साथ शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों की सैलरी औसतन चार हजार रुपये प्रतिमाह बढ़ जायेगी।


Buy Amazon Product