बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

राज्य के प्रारंभिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक के शिक्षकों के लिए शिक्षा मंत्री ने जारी कर दिया आदेश 42 हजार का होगा

राज्य के प्रारंभिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक के शिक्षकों के लिए शिक्षा मंत्री ने जारी कर दिया आदेश 42 हजार का होगा

प्रारंभिक स्कूलों रिक्तियों के लिए 90762 विरूद्ध अब तक चयनित लगभग 42 हजार अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र 23 फरवरी से दिया जाएगा। मंगलवार को शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि उच्च स्तरीय बैठक में तय किया गया है कि 25 फरवरी के पहले 23 फरवरी से ही नियोजन इकाई द्वारा नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। नियुक्ति पत्र के साथ ही स्कूलों में योगदान करा दिया जाएगा। स्कूल चयन में दिव्यांग और महिला अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। योगदान के लिए 30 दिनों का समय मिलेगा। शिक्षा मंत्री ने कहा कि चयनित अभ्यर्थियों में लगभग 95 प्रतिशत के टीईटी और सीटेट प्रमाण पत्रों की जांच पूरी हो चुकी है। शेष के जांच भी दो दिनों में हो जाएगी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि नियुक्ति पत्र नियोजन इकाईवार मिलेगा, इसलिए वरीयता प्रभावित नहीं होगी। 920 चयनित अभ्यर्थियों में 562 के टीईटी व सीटेट प्रमाण पत्र फेक पाए गए हैं, जबकि 358 के सर्टिफिकेट भी संदेह के घेरे में हैं। इन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने सभी डीईओ और डीपीओ को पत्र जारी कर दिया।

यह भी पढ़ें - लाखों नियोजित शिक्षकों को नौकरी से हटाने को लेकर शुरू होगा आंदोलन ।

32714 की बहाली प्रक्रिया स्थगित

हाईकोर्ट के आदेश के बाद 32714 शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया स्थगित कर दी गई है। 2012 में एसटीइंटी उत्तीर्ण वैसे अभ्यर्थी जो 2017-19 सत्र में वीएड के लिए नामांकित थे ने कोर्ट में अपील कि थी कि उन्हें भी इसमें शामिल होने का मौका मिले। इधर शिक्षा मंत्री ने कहा कि छठे चरण के तहत उच्च और उच्चतर माध्यमिक स्कूलों के लिए अभ्यर्थियों को 17 और 18 फरवरी को नियुक्ति पत्र दिया जाना था।

चुने गये प्राथमिक शिक्षक अभ्यर्थियों के दस्तावेजों की जांच 30 सितंबर तक

प्राथमिक शिक्षक नियोजन में चयनित अभ्यर्थियों के प्रशैक्षणिक और अन्य दस्तावेजों (सीटीइटी / बीइटीइटी को छोड़ कर ) की जांच हर हाल में 30 सितंबर तक पूरी कर ली जायेगी. सभी प्रमाण पत्रों की उल्लेखित अवधि में सत्यापन के बाद ही नव नियुक्ति शिक्षकों को वेतन भुगतान किया जायेगा. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने इस संदर्भ में सभी आदेश ने जारी किये हैं. अपर मुख्य सचिव संजय कुमार की तरफ से जारी अधिसूचना के मुताबिक सीटीइटी / बीइटीइटी की जांच के आधार पर 23 फरवरी से नियुक्ति पत्र दिये जाने हैं.

यह भी पढ़ें - लाखों नियोजित शिक्षकों को नौकरी से हटाने को लेकर शुरू होगा आंदोलन ।

हालांकि कई ऐसे अभ्यर्थी जिनके प्रशैक्षणिक दस्तावेज दूसरे राज्यों के हैं, उनकी जांच दूसरे राज्यों में करायी जानी है. आधिकारिक जानकारी के मुताबिक मैट्रिक स्तरीय दस्तावेज 17 राज्यों की 27 संस्थाओं से संबद्ध हैं. वहीं इंटर स्तरीय दस्तावेज 17 राज्यों के ही 31 संस्थाओं से जुड़े हैं. स्नातक स्तरीय शैक्षणिक दस्तावेज 21 राज्यों के 85 संस्थाओं और प्रशैक्षणिक दस्तावेज इतने ही राज्यों के 52 शिक्षण संस्थाओं के हैं. शिक्षा विभाग इन दस्तावेजों की जांच में किसी भी प्रकार की नरमी नहीं बरतना चाहता है, इसलिए वह फूंक-फूंक कर कदम उठा रहा है, बाहरी राज्यों में जांच के लिए विशेष पदाधिकारियों को रवाना करेगा.

यह भी पढ़ें - लाखों नियोजित शिक्षकों को नौकरी से हटाने को लेकर शुरू होगा आंदोलन ।

सबसे पहले दिव्यांग महिला अभ्यर्थी को दिये जायेंगे नियुक्ति पत्र

पटना। शिक्षा विभाग ने प्राथमिक शिक्षक नियोजन के संदर्भ में नियोजन पत्र बांटने के लिए सभी नियोजन इकाइयों को गाइड लाइन जारी कर दी है. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने इस संदर्भ में सभी जिला पदाधिकारी और जिला शिक्षा पदाधिकारियों को गाइड लाइन दी है. गाइड लाइन के मुताबिक सबसे पहले नियुक्ति पत्र सभी कोटि की दिव्यांग महिलाओं को दिये जायेंगे. इसके बाद सभी कोटि के दिव्यांग पुरुषों को, इसके बाद सभी कोटि की महिलाओं और सबसे अंत में सभी कोटि मसलन अनुसूचित जनजाति, जाति, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, पिछड़ा वर्ग और अनारक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियोजन पत्र दिये जायेंगे.


Buy Amazon Product