बड़ी खबरें

शिक्षा मंत्री का हुआ पुतला दहन, मंत्री शिक्षकों को इज्जत और सम्मान देना सीखे  बार-बार अपमान करेंगे तो शिक्षक नहीं सहेंगे। 

शिक्षा मंत्री का हुआ पुतला दहन, मंत्री शिक्षकों को इज्जत और सम्मान देना सीखे  बार-बार अपमान करेंगे तो शिक्षक नहीं सहेंगे। 

बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी के द्वारा नियोजित शिक्षकों पर कथित अपमानजनक टिप्पणी करने के विरोध में शिक्षकों ने एक दिवसीय आंदोलन किया। सदर प्रखंड से मार्च निकाला गया। भगत सिंह चौक के समीप शिक्षा मंत्री का पुतला फूंका गया। इस मौके पर सभा का आयोजन किया गया।

शिक्षा नीति को लेकर विभाग ने बार-बार परिवर्तन करने के बाद भी परियोजना बजा रही डुगडुगी डुगडुगी। 

शिक्षक नेताओं ने कहा कि शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी कई बार नियोजित शिक्षकों को अपमानित करने का काम किया है। उन्हें मर्यादित भाषा का प्रयोग करना चाहिए। नियोजित शिक्षक पढ़ाई के साथ-साथ जो भी सरकार के गाइड लाइन आते हैं। उनके अनुसार काम करते हैं। उन्होंने कहा कि अगर शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाना चाहते हैं तो शिक्षकों को मान-सम्मान देने का काम करें।

शिक्षक नेताओं ने यह भी कहा कि शिक्षकों से गैर शैक्षणिक कार्य लेना बंद करें, तभी शैक्षणिक व्यवस्था का पुतला फूंका। और सरकार के खिलाफ नारे लगाए। आंदोलन में शिक्षक नेता शैलेन्द्र कुमार, अनिल कुमार राय, रणविजय कुमार, मोहीदीन अली कादरी, मनीष कुमार निराला, बबन प्रसाद यादव, जगनार्थ खत्री, विनोद कुमार, रौशन रजक, अनिल कुमार, मुन्ना कुमार, प्रमोद कुमार समेत कई शामिल थे।

इसे भी पढ़ें। 

शिक्षक नियुक्ति में टालमटोल रवैया: कांग्रेस

पटना. प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौड़ ने राज्य में 94 हजार प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों की नियुक्ति में नीतीश सरकार के टालमटोल वाले रवैये की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद बिहार सरकार 94 हजार प्राथमिक शिक्षकों के पदों पर होने वाली नियुक्ति को लेकर टालमटोल का रवैया अपनाये हुए है. इसका असर है कि राज्य के प्राथमिक स्कूलों में पठन-पाठन का कार्य पर विपरीत असर पड़ेगा. सरकार का रवैया शिक्षकों के लिए प्रतिकूल है. सरकार ने पहले भी सीटीइटी तथा डीएलएड पास अभ्यर्थियों के साथ अन्याय करने का प्रयास किया था. पटना उच्च न्यायालय के आदेश के बाद सरकार के इरादों पर पानी फिर गया. सरकार प्रदेश में प्राथमिक शिक्षकों के बहाली में पुनः रोड़ा अटकाने के लिए नये बहाने का तलाश रही है।


Buy Amazon Product