बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

प्राथमिक शिक्षक के लिए होगी परीक्षा टेट सफल भी होंगे शामिल, नियमावली को शिक्षा मंत्री ने दी स्वीकृति।

प्राथमिक शिक्षक के लिए होगी परीक्षा टेट सफल भी होंगे शामिल, नियमावली को शिक्षा मंत्री ने दी स्वीकृति।

• टेट में सफल लगभग एक लाख अभ्यर्थियों की नियुक्ति का रास्ता साफ

• प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में पिछली नियुक्ति वर्ष 2015-16 में हुई थी

• टेट में सफल अभ्यर्थियों की प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षक नियुक्ति के लिए होगी परीक्षा

हाइस्कूल, प्लस टू विद्यालय नियुक्ति नियमावली के बाद अब शिक्षा मंत्री ने सोमवार को प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति नियमावली को भी स्वीकृति दे दी है. नियुक्ति के लिए सरकार परीक्षा लेगी, इसमें अभ्यर्थियों का राज्य से मैट्रिक और इंटर पास होना अनिवार्य किया गया है, नियमावली को मंजूरी मिलने से राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) में सफल लगभग एक लाख अभ्यर्थियों की नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है. नियमावली विधि कार्मिक और वित्त विभाग को भेज दी गयी है. राज्य में प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में पिछली नियुक्ति वर्ष 2015 - 16 में हुई थी।

यह भी पढ़ें - साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों को लगा बड़ा झटका 31 दिसंबर से पहले करें Longin वरना हो जाएगा खत्म।

इसके बाद शिक्षक नियुक्ति नियमावली में संशोधन की बात कहीं गयी थी. इस कारण प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं हो पा रही थी. नयी नियमावली के अनुसार, राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) में सफल अभ्यर्थियों की प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षक नियुक्ति के लिए परीक्षा ली जायेगी. परीक्षा झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ली जायेगी. शिक्षकों की नियुक्ति जिला रोस्टर के आधार पर होगी. अब हाइस्कूल व प्लस टू विद्यालय की तरह प्राथमिक व मध्य विद्यालय में भी शिक्षक नियुक्ति के लिए न्यूनतम कट ऑफ मार्क्स निर्धारित किया गया है।

यह भी पढ़ें - सरकारी विद्यालयों में औचक निरीक्षण फिर से हुआ शुरू गायब हुए शिक्षकों पर कार्रवाई, हो जाए तैयार।

पिछली नियुक्ति में पकड़े गये थे फर्जी

शिक्षक राज्य में वर्ष 2015-16 में हुई शिक्षक नियुक्ति में टेट सफल अभ्यर्थियों की सीधी नियुक्ति हुई थी. लेकिन नियुक्ति में कई जिलों में गड़बड़ी का मामला सामने आया था. जिला स्तर पर शिक्षक नियुक्ति में गड़बड़ी हुई थी फर्जी प्रमाण पत्र के आधार कई जिलों में अभ्यर्थियों की नियुक्ति कर ली गयी थी. आरक्षण के प्रावधान का भी कई जिलों में ठीक से पालन नहीं किया गया था. राज्य में लगभग 500 से अधिक फर्जी शिक्षक पकड़े गये थे. इस कारण भविष्य में जिला स्तर पर सीधी नियुक्ति नहीं करने और टेट सफल अभ्यर्थियों की परीक्षा लेने की बात कही गयी थी. नियुक्ति में गड़बड़ी के कारण तीन जिलों के जिला शिक्षा अधीक्षक पर कार्रवाई भी की गयी थी।

झारखंड से मैट्रिक-इंटर पास होना अनिवार्य

राज्य सरकार के निर्णय के अनुरूप प्राथमिक व मध्य विद्यालय में शिक्षक नियुक्ति के लिए अभ्यर्थियों का झारखंड से मैट्रिक व इंटर की परीक्षा पास होना अनिवार्य होगा, सरकार के प्रावधान के अनुरूप आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए इस प्रावधान को शिथिल किया गया है.

26 हजार पद रिक्त, 71 हजार का सृजन

राज्य के प्राथमिक और मध्य विद्यालयों में शिक्षकों के 26 हजार पद रिक्त है. इसके अलावा सरकार ने 71 हजार नये पद सृजित करने का भी निर्णय लिया है. पद सृजन की प्रक्रिया शुरू है. पद सृजन के प्रस्ताव को भी शिक्षा मंत्री ने अपनी सहमति दे दी है.


Buy Amazon Product