बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

नीतीश सरकार की नई मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार नियोजित शब्द हटेगा नियमित की तरह मिलेगा सभी सुविधा 5 सितंबर तक हो जाएगा लागू।

नीतीश सरकार की नई मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार नियोजित शब्द हटेगा नियमित की तरह मिलेगा सभी सुविधा 5 सितंबर तक हो जाएगा लागू।

हटाया जाएगा नियोजित शिक्षक शब्द नियमित शिक्षकों की तरह ही मिलेगी सारी सुविधायें 5 सितम्बर तक सेव शर्त लागू करने की भी घोषणा! सीएम नीतीश कुमार नाम बदलने की दी सहमति।

बहुत कम लोगो को पता होगा तो उन्हें बताना चाहता हु की अभी वर्तमान के शिक्षा मंत्री श्री चन्द्रशेखर जी यह वही श्रीमान है जो 22 मार्च 2022 को शिक्षकों के समर्थन में पुरानी पेंशन एवं अन्य मांगों के लिए विधानसभा का घेराव किए थे

देखना यह है कि अब माननीय शिक्षा मंत्री महोदय शिक्षकों के हित में क्या करते हैं।

यह भी पढ़ें - नई सरकार राज्य के लगभग साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए होगा वरदान साबित मंत्रिमंडल की गठन होते ही उपमुख्यमंत्री ने दे दिया।

 

बिहार में आज नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार।

​​​​​​नीतीश, तेजस्वी ने मिलकर तय किए मंत्रियों के नाम।

बिहार में नीतीश मंत्रिमंडल का मंगलवार को विस्तार होगा। राजभवन में साढ़े 11 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। महागठबंधन में शामिल दलों के कुल 31 विधायकों को राज्यपाल फागू चौधरी शपथ दिलाएंगे। सोमवार की शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्तचरण दास की बैठक में मंत्रियों की सूची को अंतिम रूप दिया गया। इस बैठक में विधानसभा में अध्यक्ष का पद राष्ट्रीय जनता दल को और विधान परिषद में सभापति का पद जनता दल (एकी) को देने पर भी सहमति बनी।

बैठक के बाद मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव एस सिद्धार्थ ने मंत्रियों को सूची राजभवन को सौंप दी है। राजभवन में मंत्रियों की सूची सौंपने के बाद वे वापस मुख्यमंत्री आवास पहुंचे और तैयारियों के बारे में जानकारी दी। नेता विजय कुमार चौधरी और कांग्रेस के भक्तचरण दास ने मीडियाकर्मियों से पटना में कहा कि मंगलवार को मंत्रिमंडल विस्तार के फार्मूले पर सहमति बन गई है। मंत्रिमंडल को लेकर तीनों नेताओं की बैठक में जो फार्मूला तय हुआ है, उसके मुताबिक राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के 15, जनता दल (एकी) के 12, कांग्रेस के दो, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के एक और एक निर्दलीय विधायक को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी।

यह भी पढ़ें - सरकारी कर्मी के साथ शिक्षकों के लिए खुशखबरी 18 महीने के DA Arrears ₹150000 एकमुश्त हो सकेगा भुगतान इंतजार की घड़ी खत्म।

राजद के नेता अवध बिहारी चौधरी बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष होंगे। विधान परिषद में सभापति के लिए जद (एकी) की ओर से प्रो रामवचन राय का नाम आगे किया गया। अभी विधान परिषद में कार्यकारी सभापति भाजपा के अवधेश नारायण सिंह हैं। वे नीतीश कुमार के नजदीकी हैं लेकिन भाजपा ही नहीं चाहती कि अवधेश नारायण सिंह सभापति पद पर रहें। राजद को पिछली कैबिनेट में भाजपा कोटे के ही अधिसंख्य विभाग मिलेंगे। शिक्षा, ग्रामीण कार्य समेत कुछ विभाग राजद के खाते में, जबकि वित्त जद (एकी) के पास रह सकता है।

इस बीच, मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर राजद और जद ( एकी) के कुछ नेताओं में नाराजगी की खबरें भी सामने आने लगी हैं। बिहार के पूर्वी हिस्से से एक भी विधायक को ामंत्री नहीं बनाए जाने से राजद में नाराजगी है। इसके अलावा, बांका, भागलपुर, मुंगेर, शेखपुरा, नवादा और नालंदा जिला से भी किसी विधायक को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करने की यह लोग नाराज बताए जा रहे हैं जद ( एकी) के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा भी नाराज बताए जा रहे हैं। वे बिहार से बाहर चले गए हैं और शपथ ग्रहण कार्यक्रम के बाद 19 अगस्त को पटना लौटेंगे। विभिन्न पार्टियों से मंत्रियों के जो प्रमुख नाम सामने आए हैं।

उनमें राजद से तेजप्रताप यादव, आलोक मेहता, कुमार सर्वजीत, समीर महासेठ, अनिता देवी, ललित यादव, ऋषि कुमार, सुरेंद्र यादव, चंद्रशेखर, कार्तिक कुमार, सुधाकर सिंह, शमीम अहमद, रणविजय साहू, अख्तरुल इस्लाम शाहीन आदि हैं। जद (एकी) से विजय कुमार चौधरी, बिजेंद्र प्रसद यादव, उपेंद्र कुशवाहा, श्रवण कुमार, संजय झा, अशोक कुमार चौधरी, लेशी सिंह, मदन सहनी, जमा खान, सुनील कुमार, शीला मंडल के नाम सामने आए हैं। हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा से संतोष सुमन, निर्दलीय सुमित सिंह और कांग्रेस से अजीत शर्मा, राजेश राम, शकील अहमद, मदन मोहन झा की चर्चा है।

यह भी पढ़ें - सभी राज्य कर्मी एवं शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना लागू हो जाएगी इंतजार की घड़ी होगी खत्म

हम सब की इच्छा है कि 20 लाख लोगों को नौकरी मिले : नीतीश।

पटना । विहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश में युवाओं को दस लाख नौकरी दिये जाने के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के चुनावी वादे की तरफ इशारा करते हुए सोमवार को कहा कि हम सब लोगों की इच्छा है कि इसे बढ़ा कर 20 लाख तक पहुंचाया जाये । देश के 76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि राज्य सरकार की कामना है, कि पूरे समाज में सद्भाव और भाईचारे का वातावरण कायम रहे । मुख्यमंत्री ने कहा, 'न्याय के साथ विकास सबसे बड़ी चीज है। हम लोगों को जव से काम करने का मौका मिला है, हम ऐसा करते रहे हैं और आगे भी हम युवाओं के लिए बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित करेंगे।


Buy Amazon Product