बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूचीनियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूची राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहरराज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहर सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतनसरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतन 80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन  इसे जल्द कर ले80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन इसे जल्द कर ले शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारी राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आरामराज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

सरकार ने सभी जिलों को 9 अरब 63 करोड़ का किया आवंटन वेतन के साथ एरियर का कैसे होगा भुगतान जरूर जान ले।

सरकार ने सभी जिलों को 9 अरब 63 करोड़ का किया आवंटन वेतन के साथ एरियर का कैसे होगा भुगतान जरूर जान ले।

मुजफ्फरपुर। राज्य मद से वेतन पाने वाले शिक्षकों का इंतजार खत्म हो गया है। जिला समेत सूबे के शिक्षकों के लिए 9 अरब 63 करोड़ से अधिक की राशि जिलावार आवंटित कर दी गई है। राज्य मद से वेतन पाने वाले शिक्षकों का फरवरी के बाद से ही वेतन नहीं मिला था। इसे लेकर लगातार शिक्षक आंदोलन कर रहे थे।

 

जिला समेत राज्य के प्रारंभिक स्कूलों में नगर निकाय, पंचायत समिति और ग्राम पंचायत अंतर्गत नियोजित शिक्षकों के वेतन भुगतान के लिए राशि दी गई है। इससे पहले जिलावार और अलग-अलग नियोजन इकाई अंतर्गत राशि नहीं आवंटित की गई थी।

यह भी पढ़ें - अब शिक्षकों व कर्मचारियों को पुरानी पेंशन मिलना तय है सीएम की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से चला पता इंतजार की घड़ी हो गई खत्म

गर्मी छुट्टी के बाद भी स्कूल मॉर्निंग

मुजफ्फरपुर। गर्मी छुट्टी खत्म होने के बाद भी अभी मॉर्निंग ही सभी स्कूल चलेंगे। 9 जून से खुल रहे स्कूलों को लेकर डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी ने यह निर्देश जारी किया है। डीएम के आदेश के आलोक में सभी स्कूल प्रभारियों को डीईओ ने मंगलवार को निर्देश जारी किया।

 

9 जून से प्रारंभिक तो 14 जून से से हाईस्कूल खुल रहे हैं। 30 जून तक सभी स्कूलों को 6.30 से 11:30 बजे तक ही चलाने का निर्देश दिया गया है । डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी ने कहा कि प्राथमिक, मध्य और माध्यमिक-उच्च माध्यमिक स्कूलों में गर्मी की छुट्टी खत्म हो रही है । एईएस के प्रकोप को देखते हुए 30 जून तक स्कूल मॉर्निंग ही चलेंगे। स्कूल के प्रधानाध्यापक को निर्देश दिया गया है कि प्रधानमंत्री पोषण योजना कार्यक्रम 11 बजे से किया जाए। स्कूल में साफ जल की व्यवस्था रखी जाए। इसके साथ ही स्कूल परिसर और रसोई घर की साफ-सफाई प्रतिदिन करवाई जाए।

यह भी पढ़ें - सीएम नीतीश कुमार ने सभी जिलाधिकारी के साथ कि विडियो कॉन्फ्रेंसिंग, फिर से बढ़ेगी नियोजित शिक्षकों के वेतन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में दिए संकेत

सातवें चरण की शिक्षक नियुक्ति जल्द : मंत्री

पटना। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा है कि छठे चरण की शिक्षक नियुक्ति प्रक्रिया पूरी होने के कगार पर है। इसके पूरा होते ही सातवें चरण की नियुक्ति प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। सभी जिलों से रिक्तियां मांगी गई हैं और उसके अनुरूप हम जल्द ही सातवें चरण की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करेंगे। जदयू प्रदेश मुख्यालय में जनसुनवाई कार्यक्रम में में में शिक्षा मंत्री ने पत्रकारों से यह बात कही । मंत्री ने समस्तीपुर जिले में एक ही परिवार के पांच लोगों की आत्महत्या के संदर्भ में पूछे गए सवाल पर कहा कि यह घटना हमारे ही क्षेत्र की है, जो काफी दुखद एवं सभी के लिए पीड़ादायक है। पुलिस एवं एफएसएल की टीम मामले की जांच कर रही है।

 

मौके पर खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री लेशी सिंह ने कहा कि जो लोग तीन माह से लगातार अनाज का उठाव नहीं कर रहे हैं, नौकरी में हैं, आयकर रिटर्न भरते हैं या जिनकी मृत्यु हो गई है, उनके नाम राशन कार्ड से हटाए जाते हैं । जनसुनवाई कार्यक्रम में मुख्यालय उपाध्यक्ष डॉ. नवीन आर्य चन्द्रवंशी, मुख्यालय महासचिव अरुण कुमार सिंह, मुख्यालय सचिव वासुदेव कुशवाहा भी उपस्थित थे ।

यह भी पढ़ें - पंचायत प्रखंड एवं नगर नियोजित शिक्षकों के सभी तरह के बकाया एवं अंतर वेतन व एरियर भुगतान होगा इसे जरूर कर ले।

डीपीआरओ होंगे जिप में अपर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी

पंचायती राज विभाग ने जारी किया आदेश

जल्द स्वतः प्रभार ग्रहण करने को कहा गया

पटना। जिला पंचायती राज पदाधिकारियों (डीपीआरओ) को जिला परिषद का अपर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी बनाया गया है। पंचायती राज विभाग ने मंगलवार को इसका आदेश जारी कर दिया है। विभाग ने कहा है कि डीपीआरओ है अपने कार्य के अतिरिक्त जिला परिषद के अपर मुख्य कार्यपालक के रूप में काम देखेंगे। पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने इसकी जानकारी दी है।

 

विभाग ने सभी डीपीआरओ को निर्देश जारी किया है कि वे शीघ्र अपर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी का प्रभार स्वतः ग्रहण करें और जिला पदाधिकारी के माध्यम से इसकी सूचना मुख्यालय को दें। मालूम हो कि जिला उप विकास आयुक्त (डीडीसी) जिला परिषद के मुख्य कार्यपालक के रूप में कार्य करते हैं। हालांकि, बिहार सरकार के की ओर से यह निर्णय पूर्व में लिया गया है कि डीडीसी की जगह किसी अन्य पदाधिकारी को जिला परिषद का मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी बनाया जाएगा। इसके लिए पंचायती राज अधिनियम में संशोधन भी किया गया है। डीडीसी की जगह अन्य पदाधिकारी को मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी बनाने पर तैयारी चल रही है।

यह भी पढ़ें - मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी कर्मचारियों को दिया खुशखबरी अब मिलेगी पुरानी पेंशन टीम गठित हो गया।

पीपीयू: रिजल्ट को सुधार के लिए कॉलेज में करें आवेदन

पटना। पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय में परीक्षा या रिजल्ट संबंधित सुधार के लिए पहले कॉलेज में आवेदन करना होगा। सीधे विश्वविद्यालय कार्यालय में किए गए आवेदन पर विचार नहीं होगा। कंकड़बाग ओल्ड बाइपास स्थित कार्यालय में छात्रों के लगातार हंगामे के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। दरअसल, माइग्रेशन, रजिस्ट्रेशन, परीक्षा संबंधी कार्य की वजह से छात्रों की भीड़ रह रही है। इस वजह से अन्य कार्य बाधित हो गए हैं। कुलसचिव डॉ. जितेन्द्र कुमार सिंह ने मंगलवार को इस संबंध में नोटिस जारी करते हुए कहा कि परीक्षा संबंधित कार्य के लिए आवेदन पहले संबंधित कॉलेज में देना होगा। कॉलेज से सत्यापन किए जाने के बाद ही विवि को आवेदन जाएगा। इसी तरह रजिस्ट्रेशन, माइग्रेशन या अन्य कार्यों के लिए भी आवेदन पहले संबंधित कॉलेज को देना होगा। सीधे विवि में किसी तरह का आवेदन नहीं लिया जाएगा।

 

कुलसचिव ने स्पष्ट किया है विश्वविद्यालय में बेवजह भीड़ लगाने से किसी का कार्य नहीं होगा। इधर मंगलवार को इतनी भीड़ हो गई जिसकी वजह से प्रॉक्टर सहित अन्य अधिकारियों को काफी फजीहत झेलनी पड़ी। परीक्षा नियंत्रक डॉ. महेश मंडल और प्रॉक्टर डॉ. मनोज कुमार ने बताया ने कि प्रमोटेड छात्र ज्यादा परेशान हैं। जबतक कॉलेज की ओर से आवेदन प्राप्त नहीं होगा । इसपर कोई विचार नहीं होगा।

यह भी पढ़ें - राज्य परियोजना निदेशक ने 6 से 18 आयु वर्ग के सभी बच्चों के शिक्षकों के लिए जारी किया निर्देश

सोसायटी के सेहत केंद्र का लिया जायजा

पटना। बिहार एड्स नियंत्रण सोसायटी और पॉपुलेशन फाउंडेशन की ओर से जेडी वीमेंस कॉलेज के सेहत केंद्र का जायजा लिया गया। इस मौके पर फाउंडेशन की अधिकारी मिताक्षी और एड्स नियंत्रण सोसायटी के आलोक मौजूद थे। सेहत केंद्र की नोडल अधिकारी डॉ. हीना रानी ने विटामिट की दवाएं और सैनेटरी नैपकिन वेडिंग मशीन लगवाने का प्रस्ताव रखा। मौके पर तनारा तबस्सुम मौजूद थीं।


Buy Amazon Product