बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

सरकार ने सभी कर्मचारियों के साथ-साथ शिक्षकों को दिया खुशखबरी अब DA 3% की जगह 5.5% का DA में होगा बढ़ोतरी लिया गया बड़ा फैसला।

सरकार ने सभी कर्मचारियों के साथ-साथ शिक्षकों को दिया खुशखबरी अब DA 3% की जगह 5.5% का DA में होगा बढ़ोतरी लिया गया बड़ा फैसला।

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों के साथ-साथ राज्य कर्मचारियों के लिए भी खुशखबरी है. सरकार 18 महीने के डीए एरियर को लेकर इसी माह फैसला ले सकती है. केंद्रीय कर्मचारियों का जनवरी 2020 से जून 2021 तक का डीए कोरोना के चलते रोका गया था. वे लंबे समय से इसे जारी करने की मांग कर रहे हैं.

डीए एरियर का इंतजार कर रहे कर्मचारी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार अगस्त में कर्मचारियों के बकाया डीए का भुगतान कर सकती है. हालांकि, इससे पहले खबर आई थी कि सरकार कर्मचारियों को डीए एरियर का भुगतान कर सकती है, लेकिन सरकार ने इसे लेकर इनकार कर दिया था. कर्मचारी अब भी डीए एरियर का इंतजार कर रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वित्त मंत्रालय के डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग और व्यय विभाग के अधिकारियों की संयुक्त सलाहकार तंत्र की बैठक में इस संबंध में चर्चा हो सकती है. बता दें कि केंद्रीय कर्मचारियों को अभी 34 प्रतिशत की दर से महंगाई भत्ता मिल रहा है.

यह भी पढ़ें - 12 वर्षों के बाद बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नति वेतन वृद्धि के साथ शिक्षकों में खुशी की लहर।

कोरोना के चलते रोक दिया गया था डीए

बता दें कि कोरोना महामारी के चलते केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का 18 माह का डीए रोक दिया था. कर्मचारी इसे जारी करने की मांग लंबे समय से कर रहे हैं, लेकिन सरकार से उम्मीद लगाए बैठे कर्मचारियों को अब तक निराशा ही हाथ लगी है.

अगर केंद्र सरकार डीए एरियर की बकाया राशि का वन टाइम सेटलमेंट करती है तो अलग-अलग लेवल के कर्मचारी के लिए अलग-अलग राशि जारी होगी.

बता दें कि केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता भी बढ़ने वाला है. साल में जनवरी और जुलाई में डीए रिवाइज होता है. बढ़ती महंगाई और ऑल इंडिया कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स के आंकड़ों से अनुमान लगाया जा रहा है कि केंद्रीय कर्मचारियों का डीए 5 प्रतिशत तक बढ़ सकता है. अगर ऐसा होता है तो कर्मचारियों का डीए 34 फीसदी से बढ़कर 39 प्रतिशत हो जाएगा.

यह भी पढ़ें - अपर मुख्य सचिव ने शिक्षकों के हक में जारी किया आदेश DEO एवं BEO को जारी कर दिया पत्र।

 

सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के पहनावे को लेकर संघ ने जताई नाराजगी

* बिहार प्रदेश प्रारंभिक शिक्षक संघ के कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी ने जारी किया बयान

पटना। स्कूलों मे शिक्षकों के में पहनावे को लेकर कुछ जिलो के जिला पदाधिकारियों द्वारा शिक्षकों को अपमानित करने व वेतन रोकने की की गई कार्रवाई पर बिहार प्रदेश प्रारंभिक शिक्षक संघ ने नाराजगी व्यक्त की है। संघ के कार्यकारी अध्यक्ष नवलकिशोर सिंह व प्रदेश व मीडिया प्रभारी मृत्युंजय ठाकुर ने संयुक्त रूप से कहा कि समाचार पत्रों व सोशल मीडिया मे वायरल वीडीओ में जिला पदाधिकारी द्वारा शिक्षकों के पहनावे को लेकर फटकार लगाते देखा जा रहा है, जो कहीं से भी उचित प्रतीत नहीं होता है। भारतीय परंपरा में पूर्व से ही शिक्षकों के पहनावे में धोती-कुर्ता व पैजामा - कुर्ता सभ्य समाज में स्वीकृत रहा है। ऐसे में पदाधिकारियों द्वारा शिक्षकों पर भड़कने या कार्रवाई करने का कोई औचित्य ही नहीं है प्रदेश प्रवक्ता मशकूर आलम ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा स्कूलों में शिक्षकों के लिए कोई ड्रेस कोड का निर्धारण नहीं किया गया है, इसलिए जब तक ड्रेस कोड का निर्धारण न हो जाए तबतक इस तरह शिक्षकों को पदाधिकारी अपमानित न करें। 


Buy Amazon Product