बड़ी खबरें

बड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधानबड़ी खबर: नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में पढ़ाई के साथ कमाई भी होगी: धर्मेंद्र प्रधान दिवाली से पहले कर्मचारियों ब शिक्षकों को मिल सकता है बंपर तोहफा 3 जगह से आएगा पैसा जान ले कैसे?दिवाली से पहले कर्मचारियों ब शिक्षकों को मिल सकता है बंपर तोहफा 3 जगह से आएगा पैसा जान ले कैसे? कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है? कैचअप कोर्स से बच्चों और शिक्षकों का 3 ग्रेड में होगा मूल्यांकन जाने विस्तार से उसके बाद शिक्षकों का क्या होने वाला है? 3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव3.57 लाख शिक्षकों को 15% वेतन वृद्धि का लाभ वित्त विभाग से आने के बाद अब नए साल में मिलने की उम्मीद: अपर मुख्य सचिव प्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशकप्रारंभिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षक प्रधानाध्यापक पद का जिला भार हुआ आवंटन पत्र हुआ जारी।:प्राथमिक शिक्षा निर्देशक शिक्षकों को बरगला रही सरकार 15 प्रतिशत की वेतन बढ़ोतरी स्थानांतरण एवं प्रोन्नति का भी मामला लटका। शिक्षकों को बरगला रही सरकार 15 प्रतिशत की वेतन बढ़ोतरी स्थानांतरण एवं प्रोन्नति का भी मामला लटका।

सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुरू हुई बैठक, जदयू नेता संजय झा बोले-बिहार में हम एक साथ |

सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुरू हुई बैठक, जदयू नेता संजय झा बोले-बिहार में हम एक साथ |

जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पार्टी कार्यालय के कर्पूरी सभागार में शुरू हो गई है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बैठक चल रही है। इसमें शामिल होने के लिए तमिनाडु, केरल, बंगाल और झारखंड के प्रतिनिधि भी पहुंचे हैं। बैठक से पहले जदयू महासचिव संजय झा ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हर मुद्दे पर चर्चा होगी। अरुणाचल के मुद्दे पर भी बात होगी, उसका असर बिहार में देखने को नहीं मिलेगा। हमारा गठबंधन बिहार में है, उसके बाहर हम आमने-सामने लड़ते रहे हैं।

केसी त्यागी बोले -बीजेपी ने अरुणाचल में अमित्रतापूर्ण व्यवहार किया |

पांच साल तक चलेगी सरकार

जदयू नेता संजय झा ने यह भी कहा कि अरुणाचल में हमारे विधायक समर्थन दे रहे थे, इसके बाद भी क्यों तोड़ा, ये मंथन का विषय। विरोधी निशाना साध रहे, इसके अलावा उनके पास क्या काम? वो सिर्फ सपना देखते रहें, सरकार पांच साल तक चलेगी। इस पांच साल में किसी के लिए कोई संभावना नहीं है। वहीं, बैठक में भाग लेने से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री अली अशरफ फातमी ने बताया कि अरुणाचल में जो हुआ, वो बहुत दुखद है। वहीं, बैठक में हिस्सा लेने के लिए आए श्रावण कुमार ने अरुणाचल के मुद्दे पर कहा कि कभी खुशी, कभी गम का दौर आता रहता है। जदयू पहले से इसका सामना करती रही है। हर स्थिति से हमारा दल निपट लेगा। आज की बैठक में सब मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।

केसी त्यागी के बयान पर हुआ था सियासी बवाल

इससे पहले शनिवार को जदयू राष्ट्रीय परिषद की बैठक हुई थी। इसमें पार्टी के 25 नेताओं ने हिस्सा लिया था। बैठक में जाने से पहले केसी त्यागी के बयान पर भाजपा और जदयू के बीच तल्खियां भी बढ़ी हुई दिखी। केसी त्यागी ने कहा था कि अरुणाचल में भाजपा ने जो किया वो अमित्रतापूर्ण व्यवहार है। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव का बयान आते ही भाजपा ने पलटवार किया। भाजपा प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि जदयू को अपने विधायकों को कंट्रोल में रखना चाहिए, वे भाजपा पर बेवजह दोष मढ़ रहे हैं।


Buy Amazon Product