बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

शिक्षा विभाग के आदेश ने बढ़ाई शिक्षकों की परेशानी खाता खुलवाने के लिए ढूंढ रहे बैंक आप भी जल्द खुलवालें।

शिक्षा विभाग के आदेश ने बढ़ाई शिक्षकों की परेशानी खाता खुलवाने के लिए ढूंढ रहे बैंक आप भी जल्द खुलवालें।

Bihar Education Department News: बिहार सरकार के शिक्षा विभाग के एक आदेश ने शिक्षकों की परेशानी बढ़ा दी है। विभाग ने सभी सरकारी स्कूलों को मध्‍याह्न भोजन योजना (Mid Day Meal) यानी एमडीएम (MDM) के संचालन से जुड़ा खाता एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) में खोलने का निर्देश दिया है। लेकिन यह निर्देश शिक्षकों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। राज्य के कई प्रखंड में एचडीएफसी की शाखा ही नहीं है। ऐसे में शिक्षकों को काफी परेशानी हो रही है। जब स्कूल के आसपास बैंक की कोई शाखा ही नहीं तो अब खाता कहां खोला जाए। ऐसे में बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ (Bihar Rajya Prathmik Shikshak Sangh) ने सरकार के निर्देश का विरोध करने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें - कक्षा 1 से 12 तक के शिक्षकों की बढ़ी मुश्किलें नई शिक्षा नीति ने लागू कर दिया।

स्‍कूल के नजदीक वाले बैंक में खाता खोलने की अनुमति देने की मांग
संघ के अध्यक्ष बृजनंदन शर्मा, कार्यकारी मनोज कुमार ने कहा कि सरकार को ऐसे बैंक में खाता खोलने की अनुमति देनी चाहिए जो स्कूल के समीप है। शिक्षक नेताओं का कहना है कि जिन स्कूलों का खाता खोला गया है, उन्हें अभी तक पासबुक भी नहीं मिली है। बिना पासबुक एवं एकाउंट नंबर के काम कैसे होगा। पहले शिक्षक अपनी सुविधा के अनुसार स्कूल के समीप बैंक की शाखा में खाता खोलते थे, जिससे संचालन में सुविधा होती थी। शिक्षकों का कहना है कि अगर किसी तरह दूर की शाखा में खाता खोलवाया भी जाए तो वहां बार-बार आने-जाने में परेशानी होगी। इससे स्‍कूल में व्‍यवस्‍था पर असर तो पड़ेगा ही शिक्षकों का समय भी बर्बाद होगा।


Buy Amazon Product