बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

बढ़े हुए दर से लागू हुए राज्य के 72 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की परेशानी घटी

बढ़े हुए दर से लागू हुए राज्य के 72 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की परेशानी घटी

पटना। राज्य में मध्याह्न भोजन पकाने पर खर्च होने वाली परिवर्तित मूल्य की राशि बढ़े हुए दर से लागू करने के आदेश दिये गये हैं। केंद्र के फैसले के अनुरूप बढ़ा हुआ दर एक अक्तूबर से लागू होगा। केंद्र के निर्देश के अनुरूप मध्याह्न भोजन पकाने पर खर्च होने वाली परिवर्तित मूल्य की राशि बढ़े हुए दर से लागू करने के आदेश पी. एम. पोषण योजना के निदेशक सतीश चन्द्र झा द्वारा शुक्रवार को सभी जिलों के जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (पी. एम. पोषण योजना) को दिये गये हैं। आदेश में केंद्र के निर्णय का हवाला देते हुए कहा गया है कि वित्तीय वर्ष 2022-23 में एक अक्तूबर की तिथि से परिवर्तन मूल्य की नयी दर वर्ग 1 से 5 के लिए 5.45 रुपये एवं वर्ग 6 से 8 तक के लिए 8.17 रुपये निर्धारित किया गया है। निर्धारित दर एक अक्तूबर, 2022 के प्रभाव से मान्य होगा।उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने एक अक्तूबर, 2022 के प्रभाव से मध्याहन भोजन पकाने पर खर्च होने वाली राशि में 9.6 फीसदी की बढ़ोतरी का निर्णय लिया है। 

यह भी पढ़ें - राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों को दिवाली के वेतन के साथ सभी प्रकार के बकाया राशि का भुगतान छठ पूजा से पहले होगा

इस बाबत केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय के स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा सभी राज्यों को निर्देश दिये गये हैं। मध्याह्न भोजन पकाने पर खर्च होने वाली राशि को परिवर्तित मूल्य की राशि कहते हैं । इसमें ईंधन के साथ ही दाल, सब्जी व तेल-मसाले के पैसे भी शामिल होते हैं। परिवर्तित मूल्य की राशि में 9.6 फीसदी की हुई बढ़ोतरी से 1 ली से 5वीं कक्षा में प्रति बच्चा प्रति कार्यदिवस 48 पैसे तथा 6ठी से 6वीं कक्षा में प्रति बच्चा प्रति कार्यदिवस 72 पैसे बढ़ गये हैं । 1 ली से 5वीं कक्षा में प्रति बच्चा प्रति कार्यदिवस परिवर्तित मूल्य की राशि पहले 4.97 रुपये थी, जो एक अक्तूबर, 2022 से बढ़ कर 5.45 रुपये हो गयी है। इसी प्रकार 6ठी से 8वीं कक्षा में प्रति बच्चा प्रति कार्यदिवस परिवर्तित मूल्य की राशि पहले 7.45 रुपये थी, जो एक अक्तूबर, 2022 से बढ़ कर 8.17 रुपये हो गयी है। यह बढ़ोतरी वर्ष 2020 के बाद हुई है। इसमें 60 फीसदी केंद्र की एवं 40 फीसदी राज्य की हिस्सेदारी है।

यह भी पढ़ें - सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक 21 प्रस्तावों के साथ शिक्षकों को DA में हुआ 4% की वृद्धि जान ले अब कितना वेतन मिलेगा

मगध महिला कॉलेज में जांच शिविर का आयोजन
पटना ।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा पूरे देश भर में रक्तगट पंजीकरण अभियान चलाया जा रहा है जो 11 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक पूरे देश भर में चलेगा। जिसके निमित्त आज चौथे दिन पटना विश्वविद्यालय के मगध महिला कॉलेज में जांच शिविर लगाया गया। इस जांच शिविर में मगध महिला में 239 लोगों का रक्त ग्रुप जांचा गया और ये सभी लोग भविष्य में जरूरत पड़ने पर रक्तदान करने के लिए संकल्प पत्र के माध्यम से संकल्प लिए। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा आयोजित जांच शिविर से छात्र छात्राओं में में काफी उत्साह दिखा और बहुत सारे छात्रों ने बढ़ चढ़कर इस कैंप का लाभ लिया

यह भी पढ़ें - सरकारी स्कूल के शिक्षक और रसोइया ने क्लासरूम में किया रोमांस, बिहार के बांका से वायरल हुआ वीडियो

मिड डे मील नहीं बनाने पर विरोध
1)प्रधान शिक्षक ने कहा चावल हो गयी थी खत्म 
2) विभाग को मामले की जानकारी दी गई 
दिघलबैंक।
दिघलबैंक प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय मोहामारी शेरशाहवादी टोला धनतोला में बच्चों का मध्याह्न भोजन नहीं बनने के मामले को लेकर शुक्रवार को अभिभावकों ने विद्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। विद्यालय पहुंचे अभिभावकों ने विद्यालय प्रधान पर आरोप लगाते हुए कहा कि विद्यालय में मध्याह्न भोजन कभी- कभी नहीं बनता है और जब बनता भी है तो उसमें विभाग द्वारा जारी मेन्यू के आधार पर कभी भी बच्चों को भोजन नहीं दिया जाता है। वही प्रधान शिक्षक दिलीप कुमार मंडल ने बताया कि चावल के अभाव में मध्याह्न भोजन विगत आठ सितंबर से हीं बंद हैं और इसकी सूचना विभाग को दे दी गई है।

यह भी पढ़ें - 2 वर्षों के बाद शिक्षकों को मिली भारी जिम्मेदारी शिक्षा विभाग ने जारी कर दी सूची आप भी देख ले

 मौके पर मौजूद आक्रोशित अभिभावक ऐसुर शहरूल, जहरूल, नजमुल, सफीक, मंजीर, फिरोज आदि ने आरोप लगाया कि 11 अक्टूबर को विद्यालय खुला तब से विद्यालय में मध्याहन भोजन नहीं बन रहा है। यही नहीं इस दौरान ग्रामीणों ने विद्यालय में पेयजल कि उपलब्धता नहीं होने सहित स्वच्छता को लेकर भी गंभीर आरोप लगाये। ग्रामीणों ने मामले को लेकर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं वरीय अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट करते हुए प्रधान शिक्षक पर कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर धनतोला पंचायत के मुखिया लखीराम हांसदा, वार्ड सदस्य रहमान, प्रतिनिधि मो. अकबर, उप सरपंच तिलेश्वर गणेश आदि ने विद्यालय पहुंचकर आक्रोशित अभिभावकों को शांत कराया। मामले को लेकर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रेणु कुमारी ने बताया कि विद्यालय में मध्याह्न भोजन नहीं बनने की शिकायत आज ही मिली है।


Buy Amazon Product