बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

नियोजित शिक्षकों का वेतन हुआ जारी 2 महीने का वेतन एवं एरियर मिलाकर ₹1,00,000 से ₹1,30,000 तक मिलेगा 10 दिन के अंदर।

नियोजित शिक्षकों का वेतन हुआ जारी 2 महीने का वेतन एवं एरियर मिलाकर ₹1,00,000 से ₹1,30,000 तक मिलेगा 10 दिन के अंदर।

उपर्युक्त विषयक आपके द्वारा उपलब्ध कराये गये शिक्षक वेतन भाग-पत्र के आधार पर विषयांकित कोटि के शिक्षकों का माह जून-2022 तक के वेतन भुगतान हेतु आवश्यक राशि रू0 37,60,84,80008/- (रू० सैतीस अरब साठ करोड़ चौरासी लाख अस्सी हजार आठ) मात्र GOB मद से आपको उपलब्ध करायी जा रही है (जिलावार विवरणी संलग्न)।

उपर्युक्त संदर्भ में निदेश दिया जाता है कि जिले में शिक्षक वेतन मद में पूर्व से उपलब्ध राशि का अपने स्तर से समीक्षा करते हुए एवं शिक्षक वेतन हेतु मुख्यालय से निर्गत पूर्व के निदेशों का अनुपालन करते हुए राशि प्राप्ति के 24 घंटे के अंदर वेतन भुगतान कर राज्य कार्यालय को सूचित करना सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें - तबादले की मांग लेकर शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू शिक्षा विभाग के अधिकारी क्या बोले सुन लीजिए।

शिक्षा विभाग ने अब बीईओ को सौंपी सत्यापन कराने की जिम्मेदारी

एक हजार से अधिक शिक्षकों के सर्टिफिकेट का सत्यापन फंसा

बंद नहीं होगा शिक्षकों का वेतन, शपथ पत्र लेकर किया जाएगा भुगतान

छठे चरण में नियुक्त एक हजार से अधिक शिक्षकों के सर्टिफिकेट का सत्यापन बीआरए बिहार विश्वविद्यालय और शिक्षा विभाग के बीच अटक गया है। बिहार विश्वविद्यालय प्रबंधन का कहना है कि विवि में सत्यापन के लिए डिग्री पेंडिंग है। जबकि, जिला नियोजन कोषांग प्रभारी ने इससे इनकार किया है। इससे मामला फंस गया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के 3 माह के वेतन का हुआ आवंटन 15% वृद्धि का एरियर एवं वेतन का लिस्ट हुआ जारी एक मुफ्त होगा भुगतान।

विभाग ने बिहार के बोर्ड और विश्वविद्यालय से जारी सर्टिफिकेट के सत्यापन के लिए 30 जून तक का समय निर्धारित किया था। कोषांग का कहना है कि जिले में चयनित 75 प्रतिशत शिक्षकों के सर्टिफिकेट का सत्यापन हो चुका है। 400 शिक्षक जिनका सर्टिफिकेट दूसरे राज्य का है, सिर्फ उनका सत्यापन बाकी है। ऐसे में सभी बीईओ को सत्यापन कराने की जिम्मेदारी दी गई है। वैसे सर्टिफिकेट के सत्यापन के लिए शिक्षकों का वेतन बंद नहीं होगा। उन्हें शपथ पत्र के आधार पर भुगतान कर दिया जाएगा। जिला नियोजन कोषांग प्रभारी हरिकिशोर हरि ने कहा कि सत्यापन का काम 75 प्रतिशत पूरा हो गया है। लेकिन, बीआरए बिहार विवि से जारी बीए व बीएड के सर्टिफिकेट का सत्यापन अब तक पूरा नहीं हो सका है। वैसे परीक्षा नियंत्रक डॉ. संजय कुमार ने कहा कि शिक्षकों के सर्टिफिकेट का सत्यापन पेंडिंग नहीं है। प्राथमिकता के आधार पर जांच कर रिपोर्ट दी गई है। विभाग की ओर से बीईओ ने सत्यापन कराया है। कई शिक्षकों की डिग्री पुरानी है, उस पर कॉलेज का नाम नहीं लिखा होने के कारण उसे विभाग को लौटा दिया गया है। कॉलेज के नाम के साथ इसे भेजने के लिए कहा गया है।


Buy Amazon Product