बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

शिक्षा विभाग के विशेष सचिव विद्यालयों का किया औचक निरीक्षण विभाग में मची खलबली।

शिक्षा विभाग के विशेष सचिव विद्यालयों का किया औचक निरीक्षण विभाग में मची खलबली।


विशेष सचिव ने किया स्कूलों का औचक निरीक्षण।
पटना। शिक्षा विभाग के विशेष सचिव सतीश चन्द्र झा शुक्रवार को स्कूलों के औचक निरीक्षण पर निकले। वे क्लासरूम में गये। बच्चों को परोसे जाने वाले मध्याहन भोजन के किचेन शेड में भी गये। शिक्षा विभाग के विशेष सचिव सतीश चन्द्र झा, जो प्रधानमंत्री पोषण योजना के राज्य में निदेशक भी हैं, स्कूलों के औचक निरीक्षण में दरभंगा चले गये। दरभंगा जिले में मध्याहन भोजन बनाने के लिए एकता शक्ति फाउंडेशन को दायित्व दिया गया है। विशेष सचिव श्री झा ने एकता शक्ति फाउंडेशन के किचन शेड, भोजन बनाने में अपनायी जाने वाली प्रक्रिया, स्वच्छता एवं भोजन की गुणवत्ता की जांच की और आवश्यक निर्देश दिये। किचन शेड से लगभग 98 विद्यालयों के 18,000 बच्चों को भोजन सर्व किया जाता है।

यह भी पढ़ें - सभी सरकारी स्कूल के लिए शिक्षा मंत्रालय से आ गई बड़ी खबर कक्षा पांचवी एवं आठवीं के लिए इसी सत्र से नए नियम हो जाएंगे लागू, जरूर जान ले।

विशेष सचिव श्री झा मध्य विद्यालय मखनाही पहुंचे तथा सभी कक्षाओं में जाकर पठन-पाठन का जायजा लिया एवं विद्यालय के बच्चों के साथ बैठकर मध्याह्न भोजन भी किया। अपने साथ विशेष सचिव को खाते देख बच्चों को बड़ा मज़ा आया। पहले तो शिक्षक के साथ बच्चे भी अचानक अपने बीच विशेष सचिव को पाकर सकते में आ गये, लेकिन थोड़ी देर में विशेष सचिव का उत्साहवर्द्धन पाकर बच्चे घुल-मिल गये । विशेष सचिव ने निरीक्षण के क्रम में साफ-सफाई की व्यवस्था और दुरुस्त को लेकर आवश्यक मार्गदर्शन भी किया । उन्होंने प्रधानाध्यापक को विद्यालय परिसर में बारिश के कारण हुए जल जमाव को निकालने का निर्देश भी दिया। मध्याहन भोजन योजना की गुणवत्ता को बनाये रखने के लिए प्रतिदिन मॉनिटरिंग पर बल दिया।

यह भी पढ़ें - सभी सरकारी स्कूल के लिए शिक्षा मंत्रालय से आ गई बड़ी खबर कक्षा पांचवी एवं आठवीं के लिए इसी सत्र से नए नियम हो जाएंगे लागू, जरूर जान ले।

बीपीएससी: पटना में 83 केंद्रों पर ली जाएगी प्रारंभिक परीक्षा।
बीपीएससी 6 7वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा के लिए पटना में 83 केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा आठ मई को है। इसकी तैयारी के लिए डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने शुक्रवार को समीक्षा की।सभी केंद्रों पर मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए गए हैं। प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी तथा पुलिस पदाधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि परीक्षा केन्द्र के परिसर में किसी भी हालत में भीड़ या असामाजिक तत्व न जुटें। कदाचार में लिप्त या प्रश्रय देने वाले व्यक्तियों पर कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होने वाली 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा 8 मई को एकल पाली में ( 12 बजे से 2 बजे तक) होगी। पटना में परीक्षार्थियों की कुल संख्या 55,710 ( पचपन हजार सात सौ दस) है। जिले में यह परीक्षा 83 ) विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर हो रही है। सभी उम्मीदवारों को प्रवेशपत्र आयोग की वेबसाइट से डाउनलोड करना है।परीक्षार्थियों के लिए ध्यान देने योग्य महत्वपूर्ण बिंदु: डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि उम्मीदवार को परीक्षा केन्द्र में परीक्षा प्रारंभ होने से 1 घंटा पहले यानी 11 बजे से प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा आरंभ होने के बाद परीक्षा भवन में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही किसी भी परिस्थिति में परीक्षा की निर्धारित अवधि की समाप्ति के पूर्व किसी भी परीक्षार्थी को भवन छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष में कैलकुलेटर, मोबाइल, ब्लूटूथ, वाई फाई गैजेट, इलेक्ट्रॉनिक पेन, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी, स्मार्ट वाच, पेजर इत्यादि जैसी इलेक्ट्रॉनिक सामग्री तथा व्हाइटनर, इरेजर एवं ब्लेड जैसी सामग्री भी ले जाना वर्जित है।


Buy Amazon Product