बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूचीनियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूची राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहरराज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहर सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतनसरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतन 80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन  इसे जल्द कर ले80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन इसे जल्द कर ले शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारी राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आरामराज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

नियोजित शिक्षकों के 16 वर्षों की इंतजार की घड़ी हुई खत्म अब वेतन में होगी बढ़ोतरी शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कर दिया ऐलान।

नियोजित शिक्षकों के 16 वर्षों की इंतजार की घड़ी हुई खत्म अब वेतन में होगी बढ़ोतरी शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कर दिया ऐलान।


अप्रशिक्षित शिक्षकों की होगी दक्षता परीक्षा : मंत्री
पटना । शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि अप्रशिक्षित शिक्षकों के प्रशिक्षण कार्यक्रम को शीघ्र पूरा करते हुए इनकी दक्षता परीक्षा आयोजित कराएं।बुधवार को विकास भवन में वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से एससीईआरटी परिसर में नवनिर्मित 'राज्य संसाधन केंद्र' का उद्घाटन करने के बाद अधिकारियों को उन्होंने कई निर्देश दिये। पदाधिकारियों ने मंत्री को बताया कि राज्य के अप्रशिक्षित शिक्षकों के प्रशिक्षण देने के लिए एससीईआरटी द्वारा छह माह का पाठ्यक्रम तैयार कर लिया गया  है । इसी क्रम में मंत्री ने उक्त निर्देश दिये। मंत्री ने यह भी कहा कि एससीईआरटी द्वारा दिये जाने वाले सभी प्रशिक्षण कार्यक्रमों की सफलता आंकने का पैमाना विकसित करें। यह पैमाना गलतियां मापने के लिए नहीं, बल्कि सफलता में गति प्रदान करने के लिए किया जाना चाहिए। इस मौके पर विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह, सचिव असंगबा चुबा आओ, एससीईआरटी निदेशक सज्जन आर आदि उपस्थित थे। संयुक्त निदेशक रश्मि प्रभा ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

यह भी पढ़ें - मिली खुशखबरी 7वें चरण की शिक्षक नियुक्ति से पहले 16 साल पूर्ण करने वाले नियोजित शिक्षकों को हो प्रोन्नति।

30 शिक्षकों को चार साल से पैसा नहीं मिला शिक्षा के प्रधान सचिव का वेतन रोकें : कोर्ट
1)11 जुलाई को होगी मामले पर अगली सुनवाई।
2) वैशाली के 30 प्रखंड शिक्षकों का मामला।
3) हाईकोर्ट ने वेतन नहीं मिलने पर जताई नाराजगी।
पटना। पटना हाईकोर्ट ने वैशाली के 30 प्रखंड शिक्षकों की नियुक्ति के चार साल बाद भी वेतन नहीं देने के मामले में नाराजगी जताई है। साथ ही वित्त विभाग के सचिव को आदेश दिया है कि शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव सहित जिले के वरीय शिक्षा पदाधिकारियों के वेतन भुगतान पर अगले आदेश तक रोक लगा दें। न्यायमूर्ति संजीव प्रकाश शर्मा की एकलपीठ ने उमेश कुमार सुमन व अन्य द्वारा दायर रिट याचिकाओं करते हुए यह आदेश दिया। वैशाली के इन प्रखंड शिक्षकों से लगातार चार साल से काम लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें - बिहार सरकार का सबसे बड़ा फैसला पुराने शिक्षकों को हर माह की 2 तारीख जबकि हर हाल में इस तारीख तक नियोजित शिक्षको के वेतन का विभाग को करना होगा भुगतान।

कोर्ट को बताया गया कि वर्ष 2008 के शिक्षक नियोजन की रिक्तियों के आलोक में जिला शिक्षक प्राधिकार के आदेश पर 2018 में शिक्षकों की नियुक्ति प्रखंड शिक्षक के पद पर की गई थी। नियुक्ति के बाद इन तमाम शिक्षकों से लगातार काम भी लिया जाता रहा, लेकिन जब भी वेतन भुगतान की बारी आई, तो शिक्षा विभाग ने उनकी अहर्ता पर सवाल उठाते हुए वेतन पर रोक लगाए रखा। कोर्ट को बताया गया कि हाईकोर्ट ने पिछले साल नवंबर में ही शिक्षा विभाग को आदेश दिया था कि नियुक्ति होने के बाद वेतन पर अहर्ता को लेकर रोक लगाना अनुचित है। अहर्ता पर सवाल उठाने की बजाए शिक्षकों को सेवा के दौरान ही अपनी अहर्ता को अपग्रेड करने का मौका देना चाहिए। इस दिशा में भी हाईकोर्ट ने विभाग को ठोस कदम उठाने का भी इन निर्देश दिया था । छह महीने बीतने के बाद भी विभाग की तरफ से न ही कोई ठोस उपाय निकाले गए और न ही शिक्षकों को वेतन का भुगतान ही किया गया। मामले पर अगली सुनवाई 11 जुलाई को की जाएगी।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के वेतन मद में 37 अरब रुपया हुआ जारी कैबिनेट से मिली मंजूरी इसी माह में ₹80000 मिलेंगे

3 कमरों में चल रहे हैं 5 स्कूल 5
* रघुनाथ बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय के निरीक्षण के बाद आरडीडीई ने भेजी रिपोर्ट।
पटना। एक भवन आठ कमरे। इनमें पांच में प्राचार्य कक्ष बाकी बचे तीन कमरे में पांच स्कूल चल रहे हैं। जैसे-तैसे पढ़ाई हो रही है। बुधवार को इसका • खुलासा आरडीडीई पटना के औचक निरीक्षण में हुआ। आरडीडीई सुनयना कुमारी रघुनाथ बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय पहुंची। इस परिसर में चल रहे पांच मध्य विद्यालय की स्थिति देखकर उन्होंने कहा कि जब जगह नहीं है तो बच्चे कैसे पढ़ाई करेंगे। इन पांचों स्कूलों की रिपोर्ट तैयार कर आरडीडीई ने अपर मुख्य सचिव, माध्यमिक निदेशक, प्राथमिक निदेशक और पटना डीईओ को भेजा है।

यह भी पढ़ें - सरकारी कर्मचारियों के साथ-साथ नियोजित शिक्षकों के लिए खुशखबरी अब 2 वर्ष का वेतन 5,00,00 से 25,00,00 रुपया ज्यादा मिलेगा

इसमें आरडीडीई ने कहा है कि इन पांचों स्कूलों को एक कर दिया जाय तो स्कूल में पढ़ाई अच्छे से हो पायेगी। फिर प्राचार्य का एक कक्ष होगा और बाकी कमरों में पढ़ाई होगी। आरडीडीई ने कहा कि अव्यवस्था के कारण कन्या मध्य विद्यालय वीरचंद पटेल पथ में अप्रैल से मध्याहन भोजन नहीं बन पा रहा है। क्योंकि 31 मार्च को पूर्व प्राचार्य सेवानिवृत्त होने के पहले शिक्षक राजेश कुमार को प्रभार दिये। जबकि
पटना डीपीओ स्थापना द्वारा तारकेश्वर शर्मा को प्रभारी प्राचार्य बनाया गया। राजेश ने अभी तक प्रभार नहीं दिया है। इससे मध्याहन भोजन बंद है। इन पांचों स्कूल मिलाकर 42 शिक्षक कार्यरत हैं जबकि नामांकित बच्चों की संख्या 900 है। नवीन आदर्श मध्य विद्यालय में 71 बच्चों पर नौ शिक्षक कार्यरत हैं, वहीं बापू स्मृति राजकीय मवि एलआईसी में 70 बच्चों पर आठ शिक्षक हैं। आरडीडीई ने राजकीय उच्च विद्यालय कंकड़बाग को भी रघुनाथ बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में मर्ज करने की अनुशंसा की है।


Buy Amazon Product