बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

शिक्षकों के ऐच्छिक स्थानांतरण का रास्ता साफ बरसों से इंतजार की घड़ी हुई खत्म जनवरी के प्रथम सप्ताह में सूची जारी की जाएगी

शिक्षकों के ऐच्छिक स्थानांतरण का रास्ता साफ बरसों से इंतजार की घड़ी हुई खत्म जनवरी के प्रथम सप्ताह में सूची जारी की जाएगी


पटना। सारण के माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों के नियोजन इकाई के अंदर ऐच्छिक स्थानांतरण का रास्ता साफ हो गया है।
सारण शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से भाकपा महागठबंधन प्रत्याशी आनंद पुष्कर ने सारण जिले के माध्यमिक और उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के ऐच्छिक स्थानांतरण करने के लिए अपर समहर्ता सह सारण जिला परिषद मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी डॉ. गगन कुमार से बात कर कहा कि सारण जिले के माध्यमिक एवं उच्चत्तर माध्यमिक शिक्षकों के ऐच्छिक स्थानांतरण इसी दिसम्बर महिने में अविलंब सुनिश्चित करें, ताकि उनकी परेशानी कम हो सके। इसके लिए मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी ने पूर्णतः आश्वत किया है कि हरहाल में इसी दिसम्बर में स्थानांतरण सुनिश्चित किया जायेगा । 

यह भी पढ़ें - प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को MACP 2010 के प्रभाव से लागू मिली वित्तीय उन्नयन की लाभ वेतन में होगी वृद्धि

">यह भी पढ़ें - प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को MACP 2010 के प्रभाव से लागू मिली वित्तीय उन्नयन की लाभ वेतन में होगी वृद्धि

 

जनवरी के प्रथम सप्ताह में स्थानांतरण सूची प्रकाशित हो जाएगी ! उन्होंने कहा कि इसके लिए जिला पदाधिकारी और अध्यक्ष जिला परिषद सारण से भी अनुमति प्राप्त हो गयी है । गत जून में जो 326 आवेदन पत्र प्राप्त हुए थे, वे यथावत शामिल रहेंगे । अलग से एक सप्ताह के लिए ऐक्छिक स्थानांतरण के लिए अप्लाई करने का मौका दिया भी जायेगा जो भी शिक्षक एवं शिक्षिकाएं आवेदन करने से वंचित रह गए हैं, वे एक सप्ताह में अपने आवेदन पत्र जिला परिषद सारण के कार्यालय में जमा कर सकेंगे,

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के वेतन बढ़ोतरी एवं 15% बकाया एरियर का भुगतान एक शिक्षक को 30 से 35 हजार तक हुआ आप भी अपना जान ले

परीक्षाओं में नकल प्लेग जैसी महामारी: हाईकोर्ट
1)कहा, नकल शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर सकती है 
2)छात्र की परीक्षा रद्द करने की अपील खारिज की
नई दिल्ली।
 दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा है कि परीक्षाओं में नकल प्लेग जैसी महामारी की तरह है, जो समाज और शिक्षा प्रणाली को बर्बाद कर सकती है। परीक्षा में अनुचित साधनों का इस्तेमाल करने वालों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए।
मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा और न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद की पीठ ने कहा किसी भी देश की प्रगति के लिए शिक्षा प्रणाली की शुचिता अचूक होनी चाहिए। अनुचित साधनों का सहारा लेने वाले छात्र राष्ट्र का निर्माण नहीं कर सकते।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के वेतन बढ़ोतरी एवं 15% बकाया एरियर का भुगतान एक शिक्षक को 30 से 35 हजार तक हुआ आप भी अपना जान ले

 कोर्ट ने एकल न्यायाधीश के एक आदेश के खिलाफ अपील पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की। इसमें अपीलकर्ता इंजीनियरिंग छात्र द्वारा दी गई परीक्षा को रद्द करने के मामले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया गया था। यह छात्र दूसरे सेमेस्टर की परीक्षा में अनुचित साधनों का इस्तेमाल करते पाया गया था। पीठ ने आदेश में आगे कहा, परीक्षा में नकल को अनियंत्रित छोड़ दिया जाए या नरमी दिखाई जाती है, तो इसका प्रभाव हानिकारक हो सकता है। इसके साथ ही कोर्ट ने अपील खारिज करते हुए कहा कि एकल न्यायाधीश के आदेश में दखल की जरूरत नहीं है।


Buy Amazon Product