बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा ।नियोजित शिक्षकों के चालू वित्तीय वर्ष एवं बकाया वेतन का भुगतान के लिए राशि हुआ आवंटन जान ले कितना मिलेगा । नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगानियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी बिहार सरकार ने वेतन के साथ एरिया का भी कर दिया आवंटन कौन सा महीना का मिलेगा सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। सरकारी स्कूलों में चल रहे वर्ग में बैठकर अफसर करेंगे निरीक्षण, शिक्षकों को मिलेगा 15 जून के बाद सेवांत लाभ का मौका। डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी ।डीईओ कार्यालय में मची हड़कंप, 2006 के बाद वाले नियोजित शिक्षकों के दक्षता को लेकर सबसे बड़ी खुशखबरी । प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश।प्रारंभिक विद्यालय में प्रधान शिक्षक की बीपीएससी से होने वाली परीक्षा जून के इस तारीख की हो गई घोषणा जान ले पूरा दिशा निर्देश। नियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DAनियोजित शिक्षकों के लिए इस वक्त बड़ी खुशखबरी स्कूलों को मिलेगा दूरी का प्रमाण पत्र अब बढ़ेगा DA

शिक्षकों के ग्रेड पे में हुआ बड़ा बदलाव, नियोजित शिक्षक फिर किए दक्षता परीक्षा की मांग।

शिक्षकों के ग्रेड पे में हुआ बड़ा बदलाव, नियोजित शिक्षक फिर किए दक्षता परीक्षा की मांग।

6600 के बदले मिलेगा 5400 का ग्रेड पे।
पटना । राजकीयकृत एवं परियोजना माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालयों के जिन शिक्षकों को तीस वर्षों की सेवा पूरी होने पर तृतीय सुनिश्चित वृति उन्नयन योजना के तहत 6600 रुपये के ग्रेड-पे दिये गये थे, उसमें संशोधन कर 5400 रुपये का ग्रेड-पे किया गया है । क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक के आदेश के बाद जिले के राजकीयकृत एवं परियोजना माध्यमिक उच्च - माध्यमिक विद्यालयों में इसके कार्यान्वयन को लेकर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी अरुण कुमार मिश्र (स्थापना) द्वारा विद्यालय प्रधानों को निर्देश दिये गये हैं । इसमें कहा गया है कि पटना जिलान्तर्गत राजकीयकृत एवं परियोजना माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों को तीस वर्ष की सेवा पूरी होने के उपरांत क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक द्वारा उच्चतर ग्रेड वेतन 6600 रुपये में तृतीय सुनिश्चित वृति उन्नयन योजना का लाभ स्वीकृत किया गया था, में आंशिक संशोधन करते हुए ग्रेड वेतन 6600 रुपये के स्थान पर बैंड वेतन पीबी-3 ग्रेड वेतन 5400 रुपये की स्वीकृति प्रदान की गयी है इसके मद्देनजर संबंधित शिक्षकों के वेतन निर्धारण को संशोधित करते हुए मूल सेवापुस्तिका उपलब्ध कराने का निर्देश विद्यालय प्रधानों को जिला कार्यक्रम पदाधिकारी अरुण कुमार मिश्र (स्थापना) ने दिया है।

यह भी पढ़ें - प्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों के लिए शिक्षा विभाग के प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने वेतन निर्धारण को लेकर जारी किया निर्देश पत्र हुआ जारी।

वंचित व फेल शिक्षकों के लिए उठी दक्षता परीक्षा की मांग।
पटना । दक्षता परीक्षा से वंचित और उसमें फेल प्रारंभिक शिक्षकों की दक्षता परीक्षा फिर से लेने की मांग परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ ने की है ।इस बाबत संगठन के अध्यक्ष वंशीधर ब्रजवासी ने शिक्षा विभाग के अपर मुख्यसचिव, प्राथमिक शिक्षा निदेशक तथा राज्य शिक्षा शोध एवं प्रशिक्षण परिषद के निदेशक को ज्ञापन दिया है । ज्ञापन में प्रारंभिक शिक्षक नियोजन नियमावली के प्रावधानों का हवाला दिया गया है । ज्ञापन में दक्षता परीक्षा से वंचित अथवा प्रथम-द्वितीय प्रयास में असफल शिक्षकों की दक्षता परीक्षा अविलंब लेने तथा उनकी तीन वर्ष की सेवा पूर्ण होने की तिथि से अन्य शिक्षकों की भांति प्रति वर्ष देय वार्षिक वेतन वृद्धि की एकमुश्त गणना एक अप्रैल, 2021 को करते हुए वेतन निर्धारित करने एवं उसके अनुसार वेतन वृद्धि का लाभ देने की मांग की गयी है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के बकाए वेतन के साथ नए वेतन पर आ गई सबसे बड़ी खबर।

एग्जामिनेशन एप्प से होगी परीक्षा की मॉनीटरिंग
पटना। राज्य में इंटरमीडिएट परीक्षा संचालन की मॉनीटरिंग एग्जामिनेशन एप्प से होगी। इससे संबंधित निर्देश इंटरमीडिएट परीक्षा केंद्रों के केंद्राधीक्षकों को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा दिये गये हैं। निर्देश में केंद्राधीक्षकों से कहा गया है कि परीक्षा के सफल संचालन के लिए गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी सभी परीक्षा केंद्रों से परीक्षा अवधि में परीक्षार्थियों की उपस्थिति, अनुपस्थिति एवं निष्कासन संबंधी डाटा को एग्जामिनेशन एप्प के माध्यम से समिति को भेजा जाना है। हालांकि, वैसे मामले जिसमें किसी परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र पर फोटो में त्रुटि यथा- किसी दूसरे व्यक्ति का फोटो अथवा फोटो मुद्रित नहीं रहने अथवा अस्पष्ट मुद्रित रहने की स्थिति में आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट अथवा फोटोयुक्त बैंक पासबुक से परीक्षार्थी का चेहरा मिलान कर संतुष्ट होने के उपरांत उन्हें बैठने की अनुमति केंद्राधीक्षक द्वारा दी जानी है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के बकाए वेतन के साथ नए वेतन पर आ गई सबसे बड़ी खबर।

आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट अथवा फोटोयुक्त बैंक पासबुक में से किसी एक दस्तावेज की छायाप्रति (जिसके आधार पर परीक्षार्थी को परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जायेगी। परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र को केंद्राधीक्षक द्वारा सत्यापित कर एग्जामिनेशन एप्प के मेनू में 'एडमिट कार्ड करेक्शन लिंक' के माध्यम से रौल कोड एवं रौल नम्बर सेलेक्ट कर उनका फोटो सहित अन्य दस्तावेज का फोटो खींच कर भेजा जाना है। एग्जामिनेशन एप्प को परीक्षा केंद्रों पर संचालित करने वाले कम्प्यूटर शिक्षक या कम्प्यूटर के जानकार कर्मी की प्रतिनियुक्ति केंद्राधीक्षक अथवा जिला शिक्षा पदाधिकारी की सूची से किया जाना है। इन्हें ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जायेगा। केंद्राधीक्षकों के लिए यह सुनिश्चित होना आवश्यक होगा कि परीक्षा केंद्र के लिए प्रतिनियुक्त कम्प्यूटर शिक्षक या कम्प्यूटर के जानकार कर्मी एग्जामिनेशन एप्प का परिचालन सुचारू रूप से कर रहे हैं और समिति को डाटा भेजने में सक्षम हैं । परीक्षा के दौरान डाटा नहीं भेजने या त्रुटिपूर्ण भेजने की जवाबदेही कम्प्यूटर कर्मी के साथ-साथ केंद्राधीक्षक की भी होगी।

यह भी पढ़ें - वर्ष 2003 से 2005 के नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड के साथ 15% वेतन वृद्धि हो शिक्षा मंत्री को ज्ञापन।

वरीयता क्रम से पुकारे जाएंगे अभ्यर्थियों के नाम।
मुजफ्फरपुर:प्रारंभिक शिक्षक नियोजन के तहत जिले में थर्ड राउंड की काउंसिलिंग की शुरुआत मंगलवार से होगी। यहां पहले दिन नगर निगम नियोजन इकाई के तहत छठी से 8वीं तक के लिए प्रक्रिया होगी। दूसरी ओर, सूबे में थर्ड राउंड की शुरुआत सोमवार से हो रही है, लेकिन जिले में सोशल साइंस विषय में सीट उपलब्ध नहीं होने के कारण पहले दिन यहां काउंसिलिंग नहीं होगी। काउंसिलिंग सेंटर पर वरीयता क्रम से अभ्यर्थियों को बुलाया जाएगा। इसके लिए केंद्र पर लाउडस्पीकर की व्यवस्था होगी। एक अभ्यर्थी का नाम तीन बार पुकारा जाएगा। इसके बाद भी अभ्यर्थी के नहीं पहुंचने पर वरीयता क्रम में अगले अभ्यर्थियों का नाम पुकारा जाएगा।


Buy Amazon Product