बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

3.57 लाख शिक्षकों को जनवरी के वेतन से मिलेगी बढ़ी हुई सैलरी,जरूर जान ले कितना मिलेगा।

3.57 लाख शिक्षकों को जनवरी के वेतन से मिलेगी बढ़ी हुई सैलरी,जरूर जान ले कितना मिलेगा।

अप्रैल-21 से भुगतान शुरू होने के बीच तक का बनेगा एरियर।
पटना। राज्य में प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालयों के 3.57 लाख पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को चालू जनवरी माह के वेतन से बढ़ी हुई सैलरी की भुगतान की तैयारी है। इसके लिए शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों से जुड़ी जानकारी वेब पोर्टल पर अपलोड है। उसमें जिन शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को त्रुटियां दिख रही हैं, सुधार के लिए उनके द्वारा आपत्ति दर्ज की जा रही है। आपत्तियों के निराकरण के बाद शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के पे स्लिप पर अंतिम मुहर लगेगी।
राज्य में प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालयों के 3.57 लाख पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के मूल वेतन में एक अप्रैल, 2021 से 15 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। बढ़ी हुई राशि में शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के वेतन के निर्धारण के लिए एनआईसी द्वारा ऑनलाइन कैलकुलेटर तैयार किया गया है। इसके लिए जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय से सूचनाओं के संकलन हेतु प्रपत्र तैयार किया गया। प्रपत्र में जिलों के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) द्वारा सूचना अंकित करने के बाद उसे एनआईसी के वेब पोर्टल पर अपलोड किया गया। इसके लिए 31 दिसंबर तक की ही समय-सीमा तय थी।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

उसके बाद उसे मेधासॉफ्ट के माध्यम से शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के अवलोकन के लिए तीन जनवरी को खोला गया । अवलोकन के लिए सात जनवरी तक की ही समय-सीमा तय थी, जो 14 जनवरी तक बढ़ गयी है। जिन शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के मामले त्रुटियां हैं, उसमें सुधार के लिए जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय में आपत्तियां दर्ज की जा रही हैं। इसका निराकरण किया जा रहा है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार तय समय-सीमा के तहत विद्यालय के लॉगइन से मेधासॉफ्ट के माध्यम से संबंधित शिक्षकों  पुस्तकालयाध्यक्षों द्वारा पे स्लिप डाउनलोड किया जाना है। इसे दो प्रतियों में तैयार किया जाना है। दो में से एक प्रति सेवा पुस्तिका में चस्पाया जाना है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

तय प्रक्रिया के तहत पे स्लिप पर संबंधित शिक्षक पुस्तकालयाध्यक्ष एवं विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारा हस्ताक्षर किया जाना है। फिर, प्रारंभिक विद्यालयों के मामले में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी तथा माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालयों के मामले में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (माध्यमिक शिक्षा) के माध्यम से पे स्लिप (सेवापुस्तिका सहित) जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) को दिया जाना है। उनके स्तर से अनुमोदित एवं हस्ताक्षरित होने के उपरांत सेवापुस्तिका पर नियोजन इकाई के सदस्य सचिव को अवलोकन कराया जाना है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार एक अप्रैल, 2021 से लेकर भुगतान शुरू होने के बीच की बढ़ी हुई राशि शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को बकाये के रूप में मिलेगी


Buy Amazon Product