बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

7.96 करोड़ रुपये स्वीकृत, स्कूलों के लिए 1.05 करोड़ की राशि जारी,स्कूलों में बनेंगे मॉडल लैब शिक्षक जाने कैसे खर्च करना है।

7.96 करोड़ रुपये स्वीकृत, स्कूलों के लिए 1.05 करोड़ की राशि जारी,स्कूलों में बनेंगे मॉडल लैब शिक्षक जाने कैसे खर्च करना है।

पटना। राज्य के 50 अनुकरणीय प्लस टू स्कूलों में - मॉडल साइंस लैब की स्थापना के लिए 7,96,49,900 रुपये की स्वीकृति प्रदान की गयी है। इन 50 अनुकरणीय प्लस-टू स्कूलों में सात पहले चरण के हैं। पहले चरण के सातों स्कूल पटना जिले के हैं। बाकी 43 स्कूल दूसरे चरण के हैं, जो शेष 37 जिलों के हैं। सभी 50 अनुकरणीय प्लस टू स्कूलों में मॉडल साइंस लैब की स्थापना के लिए पटना के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के सहयोग से मॉडल लैब की स्थापना होनी है। इसके लिए स्वीकृत 7,96,49,900 रुपये में से 1,05,31,400 रुपये पहले चरण के सात अनुकरणीय प्लस-टू स्कूलों के लिए जारी हुई है।

यह भी पढ़ें - सीएम नीतीश कुमार के मंत्री ने किया ऐलान यूटीआइ में काटी गयी राशि का भुगतान इसी माह 50000 से ₹100000 तक का होगा भुगतान ।

राज्यकर्मियों की सेवानिवृत्ति उम्र 62 करने पर होगा विचार बोले उप मुख्यमंत्री
1)वोले सभापति: सेवांत लाभ में समरूपता लाते हुए सरकार को गंभीरतापूर्वक विचार करना चाहिए ।
2) विप में केदारनाथ पांडेय ने सरकार से सेवानिवृत्ति की उम्र सीमा 62 वर्ष करने की मांग की थी 1963 करोड़ सेवांत लाभ पर हो रहे खर्च।
केदारनाथ पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ने के कारण राज्यकर्मियों की उम्र और कार्यक्षमता दोनों बढ़ी है। मुख्यमंत्री भी यह बात कह चुके हैं। ऐसे में सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ने से सेवात लाभ मद की बड़ी राशि अन्य विकास कार्यों पर खर्च की जा सकेगी। हर साल 150-200 करोड़ की राशि सेवात लाभ में बढ़ रही है। वर्ष 2018 19 में सेवांत लाभ मद 1,602 करोड़ था, जो वर्ष 2019-20 में बढ़कर 1,711 और वर्ष 2020-21 में बढ़कर 1,963 करोड़ हो गया है।

यह भी पढ़ें - सीएम नीतीश कुमार के मंत्री ने किया ऐलान यूटीआइ में काटी गयी राशि का भुगतान इसी माह 50000 से ₹100000 तक का होगा भुगतान ।

पटना। राज्यकर्मियों की सेवानिवृत्ति की उम्र सीमा 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष करने पर विचार किया जा सकता है। विधान परिषद में सदस्य केदारनाथ पांडेय के सवाल पर गुरुवार को कार्यवाहक सभापति अवधेश नारायण सिंह ने नियमन दिया कि सरकार को समरूपता लाते हुए इस पर गंभीरतापूर्वक विचार करना चाहिए। इसके बाद उप मुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि सरकार वेतन मद और पेंशन मद में खर्च होने वाली राशि का तुलनात्मक अध्ययन कर इस बिंदु पर गौर करेगी। दरअसल, केदानारथ पांडेय ने तारांकित प्रश्न किया था कि राज्यकर्मियों की 60 वर्षों की सेवा करने के बाद सेवांत लाभ के रूप में प्रतिवर्ष करोड़ों रुपये का व्यय भार वहन करना पड़ता है। देश के अन्य राज्यों तेलंगाना केरल  आंध्र प्रदेश एवं मध्य प्रदेश आदि में कर्मियों की सेवानिवृत्ति की उम्र सीमा 62 वर्ष है। क्या सरकार भी इस तरह का विचार रखती है ? इस पर पहले तो उप मुख्यमंत्री ने ऐसा कहा।


Buy Amazon Product