बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

15% वेतन वृद्धि पे फिक्सेशन के बाद अब मिलेगी पुरानी पेंशन योजना का लाभ उठी मांग

15% वेतन वृद्धि पे फिक्सेशन के बाद अब मिलेगी पुरानी पेंशन योजना का लाभ उठी मांग

राजस्थान की सरकार की तरह बड़ा दिल दिखाए नीतीश सरकार
15 प्रतिशत पे फिक्सेशन में हो रही देरी पर खड़े किए गए सवाल
सारण :- शहर के महादेवा रोड स्थित अमन मैरेज हॉल में आयोजित परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के सम्मेलन में पुरानी पेंशन व्यवस्था को लेकर शिक्षकों ने हुंकार भरी। प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर ब्रजवासी ने कहा कि पुरानी पेंशन व्यवस्था हमारी पुरानी मांगों में से एक है। कहा कि सम्मानजनक व सुरक्षित जीवन का मजबूत आधार पेंशन ही होती है। राजस्थान की सरकार की तरह नीतीश सरकार को बड़ा दिल दिखाते हुए इसे शीघ्र लागू कर देना चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष ने इसकी पुरजोर वकालत करते हुए कहा कि यह हमारी पुरानी मांगों में से एक शिक्षकों को अपनी मांगों को लेकर एकजूट रहने का आह्वान करते हुए कहा कि हम सभी लंबित मामलों के निष्पादन को लेकर सरकार के पास अपनी बातें रखेंगे।

सारण के जिलाध्यक्ष समरेन्द्र प्रताप सिंह ने पुरानी पेंशन व्यवस्था को लेकर शिक्षकों में जोश भरते हुए कहा कि सरकार के समक्ष हम इस मुद्दे को लेकर सड़क से सदन तक आवाज उठाने का काम करेंगे। प्रमंडलीय महासचिव विनय तिवारी   ने कहा कि सरकार शिक्षकों की वेतन विसंगति को यथाशीघ्र दूर करे। सीवान जिलाध्यक्ष महेश कुमार प्रभात ने 15 प्रतिशत पे-फिक्सेशन में हो रही देरी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि इस तरह की लापरवाही असहनीय है। शिक्षकों की सभी लंबित मांगों को लेकर आगे की रणनीति बनाने पर जोर देते हुए कहा कि सीवान जिले के शिक्षक इस मुद्दे पर एकजूट हैं।
वेतन विसंगति और प्रोन्नति पर भी हुई चर्चा: शिक्षकों के इस सम्मेलन में वेतन विसंगति और प्रोन्नति के मामले पर भी चर्चा हुई।

शिक्षकों ने प्रदेश अध्यक्ष वंशीधर ब्रजवासी से इस मामले को सरकार के समक्ष पूरजोर ढंग से उठाने की मांग की शिक्षकों को मध्याहन भोजन योजना से मुक्त करने, अंतर वेतन का जल्द से जल्द भुगतान करने व मृत शिक्षकों के आश्रितों को नौकरी और अनुदान की राशि के बकाया रहने संबंधी मामले में उठाये गए। सरकार की ट्रांसफर/समायोजन नीति की आलोचना करते हुए शिक्षकों ने कहा कि इस घोषणा पर आज तक अमल नहीं किया गया। अधिकारियों द्वारा शिक्षकों को बात-बात पर परेशान करने और वेतन भुगतान समय पर नहीं होने की बात भी उठायी गयी। सम्मेलन को शिक्षक लखन लाल निषाद, इंतखाब राजा, पूनम कुमारी, अनिल यादव, आतिश कुमार, विवेक कुमार पटेल, हरेंद्र पंडित, साहेब सिंह विजेता, अंशु पांडेय, महबूब आलम, मेराज अली, पिंटू कुमार, मनीषा कुमारी, अलका कुमारी, उर्मिला कुमारी, सहनाज बेगम, सुजीत पांडेय ने संबोधित किया।


Buy Amazon Product