बड़ी खबरें

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 8 से 12 फरवरी के बीच नियोजित शिक्षकों को देंगे सबसे बड़ी खुशखबरी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 8 से 12 फरवरी के बीच नियोजित शिक्षकों को देंगे सबसे बड़ी खुशखबरी।

मेधा सूची के आधार पर 8 से 12 फरवरी तक मिलेगा नियोजन पत्र। छठे चरण की शिक्षक नियोजन प्रक्रिया कई वाधाओं के बाद एक बार फिर से आगे बढ़ती नजर आ रही है। शिक्षा विभाग ने शिक्षक नियोजन नियमावली में संशोधन के बाद कैंपों के लिए तिथि का ऐलान कर दिया है। लेकिन अभी भी माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक के कैंप की तिथि प्रस्तावित ही है। 

नियोजित शिक्षकों के बल्ले बल्ले हाईकोर्ट ने शिक्षकों के पक्ष में दिया फैसला।

 

वहीं प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों के अभ्यर्थियों के 8 से 12फरवरी तक जिला स्तर पर कैंप लगेगा। प्रारंभिक स्कूलों के अभ्यर्थियों को कैंपों के जरिए नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। नगर निगम, नगर परिषद और प्रखंड नियोजन इकाइयों का कैंप जिला स्तर पर लगेगा। जवकि पंचायत नियोजन इकाइयों के लिए कैंप प्रखंड स्तर पर लगेगा। रिक्ति से 10 गुना मेधा सूची होगी तैयार प्रत्येक नियोजन इकाई को कोटिवार रिक्ति से 10 गुना तक अधिक मेधा सूची तैयार करने का निर्देश दिया गया है। 

 

मेधा सूची का प्रकाशन कैंप लगाने से 3 दिन पहले प्रकाशित किया जाएगा। सबसे पहले 6-8 वर्ग के अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र कैंप में बांटा जाएगा। इसके बाद 1-5 वर्ग के शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटा जाएगा। कैंपों में सबसे पहले निशक्त अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिया जाएगा उसके बाद जनरल एवं आरक्षित कोटि के अभ्यर्थियों को नियोजन पत्र दिया जाएगा। कैंप में नाम पुकारने के बाद यदि अभ्यर्थी मौजूद नहीं होते हैं तो उनका आवेदन रद्द कर दिया जाएगा। 

 

अंतिम दिन यदि संबंधित नियोजन इकाई में पद रिक्त रह जाता है तो ऐसी स्थिति में उपस्थित नहीं होने वाले अभ्यर्थी को नियोजन इकाई चाहे तो उसे नियुक्ति पत्र दे सकती है। 8 फरवरी को जिला स्तर पर नगर निगम एवं नगर परिषद नियोजन इकाइयों के लिए कैंप लगाया जाएगा। 9 फरवरी को ए से जी एवं 10 फरवरी को एच से जेड नाम वाली प्रखंड नियोजन झाइयों के लिए कैंप लगेगा। 11 फरवरी को प्रखंड स्तर पर ए से जे नाम वाली पंचायत और 12 फरवरी को के से जेड नाम वाली पंचायत नियोजन इकाइयों के लिए नियोजन कैंप लगाया जाना है।

 

तुगलकी फरमान की प्रतियाँ जलाकर किया आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन। 
अरवल कोर्ट। राज्यव्यापी कार्यक्रम के तहत अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोपगुट, अरवल जिला इकाई के अध्यक्ष शैलेंद्र कुमार की अध्यक्षता में शिक्षकों एवं संविदा -कर्मियों ने राज्य सरकार के द्वारा जबरन सेवानिवृत्ति की तुगलकी फरमान के प्रतियों को जलाकर आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन किया। प्रखंड मुख्यालय स्थित बाबा भीमराव अंबेडकर प्रतिमा के समीप आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न संगठनों के नेताओं एवं शिक्षकों ने भाग लिया। इस मौके पर टी ई टीधास टी ई टी प्रदेश महासचिव अनिल कुमार राय, प्राथमिक शिक्षक संघ गोप गुट, ।

 

राज्य अध्यक्ष रघुवर रजक, उपाध्यक्ष कुमार अमरेंद्र प्रसाद, देवकांत कुमार, राहुल कुमार, रणविजय कुमार ब्रजकिशोर कुणाल, जिला नाजिर संजय कुमार, , मनोज कुमार, जगन्नाथ प्रसाद खत्री, बच्चू कुमार,अजय कुमार, रामविलास शर्मा, उदय अचल, अमीन संघ के रविशंकर सिन्हा, बबन प्रसाद यादव, विनोद कुमार, मनिंदर कुमार सहित दर्जनों वक्ताओं ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार शिक्षकों को एवं कर्मचारियों को प्रताड़ित करना बंद करें, नहीं तो शिक्षक सड़क से लेकर विधानसभा तक का घेराव करेगा।


Buy Amazon Product