बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

2006 से अब तक कार्यरत नियोजित शिक्षकों को वेतन बढ़ोतरी नहीं होने का हुआ खुलासा।

2006 से अब तक कार्यरत नियोजित शिक्षकों को वेतन बढ़ोतरी नहीं होने का हुआ खुलासा।

पटना। पंचायत व नगर निकाय के तहत कार्यरत वैसे शिक्षकों को ही 15 प्रतिशत वेतन वृद्धि का लाभ मिलना है, जो दक्षता परीक्षा में पास हैं। दक्षता परीक्षा में अनुतीर्ण शिक्षकों को किसी भी स्तर पर वेतन वृद्धि का लाभ नहीं मिलेगा। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने मंगलवार को सुपौल सहित सभी जिलों के डीईओ को पत्र भेजा है। पत्र में जिक्र किया है कि शिक्षक नियोजन नियमावली 2006, संशोधित नियमावली 2009 में साफ उल्लेख है कि प्रत्येक 3 वर्षों के बाद दक्षता परीक्षा ली जाएगी। शिक्षकों के मूल्यांकन के बाद ही निर्धारित न्यूनतम अंक से कम अंक लाने वाले शिक्षकों को वेतन वृद्धि का लाभ नहीं मिलेगा।

यह भी पढ़ें - ग्रीष्मावकाश में सभी सरकारी स्कूल खुलने का शिक्षा विभाग से आया आदेश पत्र हुआ जारी।

 

विजय चौधरी ने कहा- विवि में सेशन का लेट होना दुखद

​​​​​शिक्षा मंत्री के दरबार में बिलख पड़ी छात्रा, कहा- 3 साल की पढ़ाई 6 साल में पूरी नहीं

 

पटना। सेशन लेट चलने से नाराज मगध यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राएं मंगलवार को जदयू कार्यालय में शिक्षा मंत्री विजय चौधरी से अपनी गुहार लगाने पहुंचे, लेकिन मनमाफिक जवाब नहीं मिलने पर वहीं बिलख पड़े। एक छात्रा तो फूट-फूटकर रोने लगी। उसने कहा, 'जो सेशन 3 साल में पूरे होना था, उसमें 6 साल का वक्त लग रहा है। लेट सेशन की वजह से करियर में परेशानी हो रही है। सरकार की व्यवस्था सुधारने से मतलब नहीं है। उनको जाति गिनने ज्यादा जरूरी है।' दरअसल, जदयू कार्यालय में आम लोगों की समस्याएं सुनने के लिए मंत्री बैठते हैं। इसी दौरान जब शिक्षा मंत्री लोगों की समस्याएं सुन रहे थे, तो मगध विश्वविद्यालय के छात्र पहुंचे। पहले तो शिक्षा मंत्री ने छात्र-छात्राओं की गुहार सुनी और उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द उनकी मांगों पर विचार किया जाएगा। शिक्षा मंत्री ने कहा कि सेशन लेट चल रहा है, यह सरकार के लिए भी दुखद है।

यह भी पढ़ें - सरकारी स्कूल पर फोटो नहीं चिपकाने पर होगी कार्रवाई 1 जून से 30 जून तक चलेगी समर कैंप में बच्चों की होगी पढ़ाई।

 

पदाधिकारी और विश्वविद्यालय की लापरवाही के कारण हमारे छात्र-छात्राओं को मुश्किल होती है। वहीं खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री लेसी सिंह ने कहा कि सरकार की स्पष्ट मंशा है कि प्रदेश में पात्रता रखने वाले एक भी व्यक्ति राशन मिलने से वंचित नहीं रहें, छूटे नहीं परंतु जो लोग स्वर्गवासी हो गए हैं, आयकर रिटर्न भरते हैं या नौकरी में हैं, उनका नाम हटाने के संदर्भ में प्रदेश के सभी जिला अधिकारियों को पत्र लिखा गया है।


Buy Amazon Product