बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

शिक्षा विभाग ने प्राथमिक मध्य माध्यमिक विद्यालय के लिए जारी किया दिशा निर्देश 20 बिंदुओं के अनुसार विद्यालयों का होगा संचालन।

शिक्षा विभाग ने प्राथमिक मध्य माध्यमिक विद्यालय के लिए जारी किया दिशा निर्देश 20 बिंदुओं के अनुसार विद्यालयों का होगा संचालन।

उपर्युक्त विषय के संबंध में अंकित करना है कि दिनांक 30.11.2021 को जिलाधिकारी, मुजफ्फरपुर की अध्यक्षता में आहूत शिक्षा विभाग की समीक्षात्मक बैठक में जिलाधिकारी, मुजफ्फरपुर द्वारा दिये गये निदेश के आलोक में जिलान्तर्गत सभी प्राथमिक/मध्य विद्यालयों में गुणवत्ता शिक्षा कार्यक्रम अन्तर्गत विद्यालय स्तर पर सभी महत्वपूर्ण सूचक (Indicator) को क्रियान्वित किया जाना है।

अतः क्रियान्वयन से संबंधित महत्वपूर्ण सूचक (Indicator) पत्र के साथ संलग्न करते हुये निदेश दिया जाता है कि आप सभी अपने-अपने विद्यालयों में सभी महत्वपूर्ण सूचक (Indicator) को कियान्वित करना सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के बरसो का इंतजार खत्म कैलकुलेटर हुआ तैयार 15% वेतन वृद्धि का होगा भुगतान।

 

गुणवत्ता शिक्षा कार्यक्रम अन्तर्गत विद्यालय स्तर पर निम्न गतिविधियों का क्रियान्वयन से संबंधित महत्वपूर्ण सूचक (Indicator) :-

 

1. विद्यालय ससमय खुलना एवं बंद होना सुनिश्चित किया जाए।

2. हर एक बच्चा एवं शिक्षक विद्यालय के समय में विद्यालय में उपस्थित होना सुनिश्चित करें।

3. समय से चेतना सत्र का आयोजन चेतना सत्र में विद्यार्थियों द्वारा प्रतिदिन मुख्य समाचार पत्र का वाचन बिहार राज्य प्रार्थना गीत अलग-अलग अभियान गीत प्रत्येक दिन, Take it easy कार्यक्रम अन्तर्गत प्रतिदिन चेतना सत्र में दिये गये Tollfree no. 9266616444 पर miss-call कर ध्वनि विस्तार के माध्यम से प्रेरक कहानी सुनाया जाय।

4. सभी विद्यार्थी पोशाक (Uniform) में विद्यालय आयें, यह सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें - शिक्षा परियोजना परिषद ने प्राथमिक से लेकर माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों के लिए जारी किया निर्देश पत्र हुआ जारी।

5. प्रत्येक शिक्षक को कम से कम दो वर्ग आवंटित हो।

6. प्रतिदिन शिक्षकों द्वारा पाठ-टीका का निर्माण कराया जाए। प्रतिदिन पाठ-टीका विद्यालय में रखा जाए।

7. विद्यार्थियों को शिक्षकों के द्वारा प्रतिदिन गृह कार्य दिया जाना तथा अगले दिन उसका मूल्यांकन करना सुनिश्चित किया जाए।

8. शिक्षकों को बच्चों के शैक्षिक स्तर की जानकारी एवं उसका संधारण।

9. प्रधानाध्यापक / प्रभारी प्रधानाध्यापक / प्रधान शिक्षक बच्चों का कम से कम दो क्लास प्रतिदिन लें।

10. विद्यार्थियों का अधिगम स्तर उम्र सापेक्ष एवं वर्ग सापेक्ष सुनिश्चित किया जाए।

11. हर एक बच्चा एवं हर एक शिक्षक सीखने सीखाने की प्रक्रिया में तल्लीन रहें।

12. विद्यालयों के सभी वर्ग कक्षों में शिक्षकों द्वारा श्यामपट्ट का प्रतिदिन उपयोग किया जाना ।

यह भी पढ़ें - 80 हजार सरकारी स्कूलों में 10 दिन के अंदर मिलेगा खुशियों का सौगात प्राथमिक शिक्षा निर्देशक ने जारी कर दिया आदेश।

13. सभी बच्चों के पास अपनी कक्षा की पाठ्यपुस्तक की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाना ।

14. सभी कक्षाओं में दैनिक शिक्षण तालिका की उपलब्धता तथा उपयोग।

15. सक्रिय बाल संसद तथा मीना मंच द्वारा क्रियान्वयन।

16. अंतिम घंटी में खेल-कूद, कला तथा सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन।

17. कक्षा एक के लिए विशिष्ट रूप से निर्धारित पूर्णकालिक शिक्षक।

18. विद्यालयों में उपलब्ध कराये गये कहानी की किताबों, खेल सामग्री आदि का उपयोग।

19. साफ सुथरे बच्चे तथा साफ सुथरा विद्यालय। 20. विद्यालय परिसर में बागवानी उपलब्ध पेयजल व्यवस्था एवं शौचालय का उपयोग।

21. विद्यालय में साप्ताहिक कक्षावार शिक्षक अभिभावक की नियमित बैठक।


Buy Amazon Product