बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूचीनियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूची राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहरराज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहर सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतनसरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतन 80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन  इसे जल्द कर ले80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन इसे जल्द कर ले शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारी राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आरामराज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी


स्नातक ग्रेड के शिक्षकों का तय हो वरीयता निर्धारण
1)2015 समस्या दूर हो
2)टीईटी शिक्षकों ने बीईओ को सौंपा ज्ञापन 
3)मांगे पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी
बिथान। टीईटी एसटीईटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ ( गोप गुट) की बिथान प्रखंड इकाई के प्रतिनिधिमंडल ने अध्यक्ष रंजीत  कुमार रमण के नेतृत्व में बीईओ शत्रुघन प्रसाद सिंह को शनिवार को छह सूत्री मांग पत्र सौंपा। इसमें प्रखंड के विभिन्न विद्यालयों में पदस्थापित स्नातक ग्रेड के शिक्षकों का वरीयता निर्धारण करने, वरीयता संबंधी विभागीय पत्र निर्गत होने के बावजूद उमवि सिरसिया, उमवि बेलौन, मवि पुसहो, उमवि पुसहो, मवि उजान, उमवि पार बखारी, उमवि मालसर, मवि लरझाघाट, उमवि सिहमा, उमवि परकोलिया, उमवि नरपा तथा मवि सोहमा में कार्यरत स्नातक ग्रेड के शिक्षकों का वरीयता बेसिक ग्रेड के शिक्षकों से भी नीचे निर्धारण किया जाना। 

यह भी पढ़ें - मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

चार माह से लंबित गुरु गोष्ठी का आयोजन शीघ्र करने, नवनियुक्त शिक्षकों का शिक्षकों का सेवा पुस्तिका संधारण अविलंब कराने, वर्ष 2015 में बहाल सेवा पूर्व प्रशिक्षित शिक्षकों का वेतन विसंगति दूर करने, बीआरसी की लचर व्यवस्था को ठीक करने, लेखापाल के भूमिका को मर्यादित करने आदि शामिल है। उन्होंने मांग पूरा नहीं होने पर चरणबद्ध आंदोलन करने की चेतावनी दी। प्रतिनिधिमंडल में सचिव बालविजय कुमार, उपाध्यक्ष जयजय कुमार, मीडिया प्रभारी अनिल कुमार प्रभाकर, उप सचिव राजेश कुमार, पंकज कुमार यादव, मिथुन कुमार राय, मुकेश राय, मो. फरहान आदि शामिल थे।

यह भी पढ़ें - शिक्षकों व प्रधानाध्यापकों के वेतन को 12.58 अरब जारी 15% वेतन बढ़ोतरी एरियर के साथ होगा भुगतान

मिड डे मील में छिपकली मिलने पर विरोध-प्रदर्शन
अंधराठाढ़ी । शिवा मंगरौना के उत्क्रमित मध्य विधालय के मिड डे मील प्रकरण को लेकर शनिवार बच्चो और ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन में शामिल बच्चों और ग्रामीणों के अनुसार शुक्रवार को विद्यालय में परोसे जाने वाली खिचड़ी में मरी छिपकली मिली थी। भोजन परोसने के दौरान पांचवें थाली मृत छिपकली दिखाई दी थी तब में तक चार बच्चों ने खाना शुरू कर दिया था। हालांकि, तब मध्याह्न भोज परोसने और बच्चों को खाने से रोका गया। प्रभारी प्रधानाध्यापिका वीणा देवी ने उन चारों बच्चों को एक टेबलेट खिलाकर विद्यालय कक्ष में रहने को कहा।

यह भी पढ़ें - शिक्षक नियुक्ति में फंसा पेच अब शिक्षकों को मिलेगी सीधा सेवा में प्रोन्नति

 उन्होंने उन बच्चों के अभिभावकों को सूचित करना मुनासिब नहीं समझी थी छुट्टी होने पर बच्चे जब घर गए तब उन्होंने अपने अविभावको से बताया था। बच्चों के अविभावको ने उन्हें देर शाम को अंधराठाढ़ी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया था । परीक्षण के बाद उन्हें ठीक बता कर चिकित्सक ने उन्हें रिलीज कर दिया था। प्रदर्शनकारियों की शिकायत थी कि प्रभारी प्रधानाध्यापिका की लापरवाही भयंकर हादसे का शक्ल ले सकती थी । थी। पूर्व मुखिया ने कहा कि हमलोगों ने बिरोध जता दिया है। बाद में बैठक कर वे लोग प्रभारी की स्कूल की व्यवस्था सुधारने की सलाह देंगे नही मानने पर ग्रामीण अगली कार्रवाई करने को सोचेगें।


Buy Amazon Product