बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में नए नियमों के साथ होगा निरीक्षण शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जारी किया निर्देश जरूर जान ले।

राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में नए नियमों के साथ होगा निरीक्षण शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जारी किया निर्देश जरूर जान ले।

स्कूलों का निरीक्षण करें अधिकारी, क्लास में बैठ पढ़ाई की व्यवस्था जांचें।
पटना। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि अधिकारी स्कूलों का निरीक्षण करें। क्लास रूम में बैठ कर देखें कि शिक्षक बच्चों को कैसे पढ़ा रहे हैं। पढ़ाने में कोई कमी है, तो बताएं बेहतर सुधार के लिए तत्काल सलाह भी दें। यह जांचना जरूरी है कि शिक्षक जो पढ़ा रहे हैं, बच्चे उससे कितना संतुष्ट हैं। अधिकारी और शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मंगलवार को शिक्षा मंत्री शिक्षक प्रशिक्षण कॉलेजों में गुणात्मक सुधार के लिए ह्युमाना संस्था के साथ 5 वर्षों के लिए एमओयू के मौके पर बोल रहे थे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा से ही विकास संभव है। शिक्षक ही शिक्षा का बैकबोन हैं। न्यायिक बाधा को दूर कर अधिकारियों और शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। डायट सहित शिक्षक प्रशिक्षण संस्थानों के प्रशिक्षु को इस तरह तैयार किया जाए कि वे बेहतर शिक्षक बन सकें। अच्छे शिक्षक प्रत्येक बच्चे में क्या कमी है, कैसे बच्चों की पढ़ाई सुधार की जा सकती है, यह जानते हैं। प्रशिक्षित शिक्षक ही बच्चों की क्षमता पहचान सकते हैं।

यह भी पढ़ें - न्यायालय में याचिका दायर हुआ नियोजित शिक्षकों के हक में एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक फैसला साबित होगा।

शिक्षा सचिव असंगवा चुवा आओ ने कहा कि शिक्षकों को बेहतर प्रशिक्षण देना बड़ी चुनौती है। प्रशिक्षण के तरीके में समय के साथ ही बदलाव करना जरूरी होता है। ह्युमाना हमलोगों के साथ पहले भी 3-3 वर्षों के लिए जुड़ चुके हैं। इस बार 5 वर्षों के लिए एमओयू किया गया है। ह्यूमाना के सीईओ स्नोरे वेस्टगार्ड और शोध व प्रशिक्षण निदेशक डॉ. विनोदानंद झा ने एमओयू पर हस्ताक्षर किया। डॉ. विनोदानंद झा ने कहा कि डायट, पीटीईसी सहित प्रशिक्षण संस्थान पंचायत में प्रारंभिक स्कूल से हाईस्कूल को एडाप्ट (गोद) कर पढ़ाई में बेहतर सुधार करा रहा है। जांच की जा रही है कि ड्राप आउट क्यों हो रहा। ह्युमाना के सीईओ स्नोरे वेस्टगार्ड ने कहा कि प्रत्येक डायट द्वारा अपने लिए 5 वर्ष का मास्टर प्लान बनाना और उसके अनुरूप अपनी वार्षिक योजना तय करेगा। मौके पर माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार, प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश, एससीईआरटी निदेशक विजय कुमार हिमांशु व ह्युमाना के बी आर सिन्हा आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें - भीषण गर्मी को देखते हुए स्कूलों के संचालन हेतु समय में हुआ भारी परिवर्तन पत्र हुआ जारी

आज एक साथ राज्य के सभी अंचलों का होगा निरीक्षण
पटना। बुधवार को बिहार के सभी 534 अंचलों का औचक निरीक्षण होगा. मुख्य सचिव आमिर सुबहानी के निर्देश पर सचिवालय से लेकर जिला स्तर तक के अधिकारी एक-एक अंचल के कामकाज की जांच करेंगे. जिलाधिकारियों को भी किसी एक अंचल के निरीक्षण की जिम्मेवारी दी गई है. जिला भू अर्जन पदाधिकारी, भू अपर समाहर्ता, अनुमंडल अधिकारी और भूमि सुधार उप समाहर्ता को भी जांच का जिम्मा दिया गया है. अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई भी होगी. इससे पहले पंचायतों का औचक निरीक्षण हो चुका है. सेवाओं का निष्पादन निर्धारित समय पर हो रहा है या नहीं. दाखिल खारिज, भू-लगान, जमाबंदी, एलपीसी के अलावा कुल आठ सेवाओं की जांच का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों को ईद से पहले वेतन के साथ एरिया का होगा भुगतान 991 करोड़ का हुआ आवंटन।

शिक्षक बहाली को लेकर अभ्यर्थियों ने किया हंगामा।
पटना : सातवें चरण की शिक्षक बहाली को लेकर मंगलवार को सचिवालय गेट पर केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया। हंगामा कर रहे अभ्यर्थियों ने सरकार से सातवें चरण की नियुक्ति जल्द से जल्द शुरू करने की मांग की। सरकार द्वारा बार-बार आश्वासन दिया जा रहा है, लेकिन नियुक्ति की प्रक्रिया अब तक शुरू नहीं हो पा रही है। इससे परीक्षार्थि में सरकार के प्रति अविश्वास पैदा हो रहा है। अभ्यर्थी गर्दनीबाग धरना स्थल पर जमा होकर शिक्षा मंत्री के आवास की ओर बढ़ रहे थे। तभी पुलिस ने सचिवालय गेट पर उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया। पुलिस द्वारा अभ्यर्थियों को रोकने के बाद हंगामा शुरू हो गया। हंगामा कर रहे अभ्यर्थियों को पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर खदेड़ दिया।


Buy Amazon Product