बड़ी खबरें

नियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूचीनियोजित शिक्षकों के कालबद्ध प्रोन्नति के लिए स्थापना ले नियोजन इकाई से मांगी शिक्षकों की सूची राज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहरराज्य के लाखों नियोजित शिक्षकों के लिए सबसे बड़ी खबर आखिरकार मिल ही गया समय अत्यंत खुशी कि लहर सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतनसरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी आठवें वेतन आयोग पर बड़ी खबर बढ़ेगी सैलरी अब होंगे 95 हजार वेतन 80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन  इसे जल्द कर ले80 हजार सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए अपर मुख्य सचिव ने जारी किया निर्देश अब ऐसे कटेंगे वेतन इसे जल्द कर ले शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारीशिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जारी किया निर्देश 15 नवंबर तक हर हाल में सरकारी स्कूल के शिक्षक कर ले अन्यथा विधि सम्मत होगी कार्यवाही पत्र हुआ जारी राज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आरामराज्य के शिक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान कल से सभी सरकारी स्कूल में हो गए लागू शिक्षक को मिला आराम

हाईकोर्ट जाएंगे नियोजित शिक्षक नियमित शिक्षकों के तरह मिलना चाहिए ग्रेच्युटी एवं ईएल का लाभ

हाईकोर्ट जाएंगे नियोजित शिक्षक नियमित शिक्षकों के तरह मिलना चाहिए ग्रेच्युटी एवं ईएल का लाभ

मुजफ्फरपुर। नियमित शिक्षकों की तरह ग्रेच्युटी एवं ईएल का लाभ राज्य के नियोजित शिक्षकों को भी मिले, इसको लेकर संघ उच्च न्यायालय में याचिका दायर करेगा। यह निर्णय रविवार को परिवर्तनकारी शिक्षक महासंघ की समीक्षा बैठक में लिया गया। संयोजक प्रणय कुमार एवं प्रदेश अध्यक्ष विनोद यादव ने कहा कि शिक्षक अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। अशोक कुमार ने कहा कि संघ हर स्तर पर सूबे के नियोजित शिक्षकों की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने शिक्षकों के लिए जारी कर दिया पत्र 15 तारीख तक मिल जाएगा फाइनल

100 महिला शिक्षक बनेंगी 'इरिस' ऑफिसर, होंगी ट्रेंड
1)सूबे में शिक्षिकाओं का किया गया चयन
2)छठी से 10वीं की विज्ञान शिक्षिकाएं इसमें शामिल 
मुजफ्फरपुर, ।
जिले समेत सूबे में इरिस यानि इंस्पायरिंग इंडिया इन रिसर्च इनोवेशन इन स्टेम एडुकेशन को लेकर 100 महिला शिक्षकों का चयन किया गया है। ये महिला शिक्षक 'इरिस' ऑफिसर बनेंगी। भारतीय विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान संस्थान इन महिला शिक्षकों ट्रेनिंग देगा। ट्रेनिंग के बाद सरकारी स्कूल की ये महिला शिक्षक बच्चों को स्टेम तकनीक से पढ़ाएंगी।

यह भी पढ़ें - ढाई लाख शिक्षकों का 1700 करोड़ से अधिक वेतन वृद्धि का एरियर बकाया जान ले कब मिलेगा

बिहार शिक्षा परियोजना की ओर से इसके लिए सभी जिलों से महिला शिक्षकों का चयन किया गया है। इसमें कक्षा छठी से 10वीं तक की विज्ञान और गणित की शिक्षिकाएं शामिल हैं। बीईपी निदेशक असगंबा चुबा आओ ने निर्देश दिया है कि स्टेम यानि विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनिरिंग और गणित के माध्यम से बच्चों को पढ़ाना है। इससे पहले एक बार ट्रेनिंग कराई गई थी, लेकिन उसमें पुरुष शिक्षक ही आए । महिला शिक्षकों की भागीदारी काफी कम रही। ऐसे में विभाग ने निर्णय लिया है कि इस बार सूबे से केवल महिला शिक्षकों को ही प्रशिक्षित कर उन्हें इरिस ऑफिसर के तौर पर काम करने के लिए प्रतिनियुक्त किया जाएगा। ये महिला शिक्षक ट्रेनिंग लेने के बाद अपने-अपने जिले में अन्य स्कूल की शिक्षिकाओं को ट्रेंड करेंगी।


Buy Amazon Product