बड़ी खबरें

 राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी सुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिलीसुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिली शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं

शिक्षकों को अब श्रावणी में शिव भक्त कांवरियों को गाना गाकर एवं नृत्य कर मनोरंजन करने की मिली जिम्मेदारी, प्रशिक्षण शुरू, आपको भी डांस करना होगा।

शिक्षकों को अब श्रावणी में शिव भक्त कांवरियों को गाना गाकर एवं नृत्य कर मनोरंजन करने की मिली जिम्मेदारी, प्रशिक्षण शुरू, आपको भी डांस करना होगा।

अब गुरुजी को मिली कांवरियों के मनोरंजन की जिम्मेदारी।

बांका : गुरुजी को मिलने वाली ड्यूटी अक्सर चर्चा का विषय बनती है। जनगणना, मतगणना, पशुगणना अब उनका पुराना काम हो गया है। शराबी पकड़वाना, खुले में शौच वालों की निगरानी करना भी उनकी काम में शामिल हो चुका है। बांका जिला प्रशासन ने शिक्षकों को अब एक नई जिम्मेदारी सौंपी है। गुरुजी को श्रावणी मेले में देश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले शिव भक्तों का मनोरंजन करना होगा। गुरुजी गायन और वादन के माध्यम से कांवरियों से नृत्य करवाएंगे, ताकि उनकी थकान कम हो सके। इसके लिए हाईस्कूल के दो दर्जन से अधिक संगीत शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जा रही है। उनका आडिशन बुधवार को होगा। इसके बाद शिक्षकों की टीम बनाकर उन्हें प्रशासन कांवरिया पथ पर भेजेगा। शिक्षक निर्धारित तिथि को वाद्ययंत्र के साथ मौजूद रहकर कांवरियों को हमसे भंगिया ना पिसाई गणेश के पापा... जैसे गीतों से मनोरंजन करेंगे।

यह भी पढ़ें - राज्य के 12 जिलों के नियोजित शिक्षकों को मिला खुशियों का सौगात ₹66 करोड़ हुई जारी।

42 हजार नवनियुक्त शिक्षकों को 26 तक मिलेगा वेतन।

पटना। राज्य में नवनियुक्त 42 हजार प्रारंभिक शिक्षकों को 26 जुलाई तक वेतन का भुगतान होगा। हालांकि, कई जिलों में नवनियुक्त शिक्षकों का वेतन भुगतान शुरू हो गया है ।नवनियुक्त सभी प्रारंभिक शिक्षकों को 26 जुलाई तक वेतन का भुगतान हर हाल में सुनिश्चित करने का निर्देश प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश ने ने मंगलवार को सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) को दिया है। यह निर्देश मंगलवार को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई समीक्षा के बाद दिया गया है ।

समीक्षा में स्थिति संतोषप्रद नहीं पायी गयी इसके मद्देनजर प्राथमिक शिक्षा निदेशक द्वारा दिये गये निर्देश में जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) से कहा है कि 16 जुलाई को जिला एवं प्रखंड स्तर पर कैंप आयोजित कर नवनियुक्त शिक्षकों का शतप्रतिशत मास्टर डाटा प्रपत्र प्राप्त करें तथा यूएएन संख्या खोलने की प्रक्रिया पूर्ण कर 26 जुलाई से पूर्व भुगतान सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें - शिक्षा विभाग के अपर सचिव शिक्षकों के वेतन एवं विशेष सचिव सतीश चंद्र झा ने संयुक्त बयान जारी कर दिया मिलेंगे सब्सिडी पूरी जानकारी जरूर जान ले

आपको याद दिला दूं कि बिहार पंचायत प्रारंभिक शिक्षक (नियोजन एवं सेवा शर्त) नियमावली, 2012 ( यथा संशोधित) एवं बिहार नगर प्रारंभिक शिक्षक (नियोजन एवं सेवा शर्त्त) नियमावली, 2012 में निहित प्रावधानों के आलोक में वर्ष 2019-20 में प्रारंभ किये गये शिक्षक नियुक्ति की काररवाई के क्रम में चयनित एवं नियुक्त अभ्यर्थियों के 30 सितंबर, 2022 तक सभी प्रमाण पत्रों के सत्यापनोपरांत वेतनादि का भुगतान किये जाने का निर्णय लिया गया था ।

इस संबंध में कतिपय नवनियुक्त शिक्षक अभ्यर्थियों से वेतन भुगतान के संबंध में प्राप्त आवेदन पर विभाग द्वारा उच्च स्तर पर उक्त निर्णय की समीक्षा की गयी। इस क्रम में यह दृष्टिगोचर हुआ कि प्रमाण पत्र गलत पाये जाने पर सेवा स्वतः समाप्त कर दिये जाने से संबंधित शपथ पत्र अभ्यर्थियों से नियोजन के पूर्व लिया गया है। साथ ही शिक्षकों से बिना वेतन के कार्य कराना वैधानिक प्रतीत नहीं होता है। इसके मद्देनजर समीक्षोपरांत यह निर्णय लिया गया है कि नवनियुक्त शिक्षकों के मार्च, 2023 तक के वेतन का भुगतान किया जायेगा । नवनियुक्त शिक्षकों के सभी प्रमाण पत्रों का सत्यापन भी पूर्व से निर्धारित अवधि 30 सितंबर, 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा ।


Buy Amazon Product