बड़ी खबरें

राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी मुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गयामुख्यमंत्री का कार्यालय बिहार सरकार (जनसंपर्क कोपांग) से शिक्षकों के लिए प्रेस विज्ञप्ति जारी हो गई आखिरकार शिक्षकों को मिल ही गया

नियोजित शिक्षकों के वेतन एवं एरियर के भुगतान को लेकर आई सबसे बड़ी खबर

नियोजित शिक्षकों के वेतन एवं एरियर के भुगतान को लेकर आई सबसे बड़ी खबर

राज्य के लगभग 5 लाख नियोजित शिक्षकों को 1 माह की वेतन का भुगतान संभव है 15% का बढ़ा हुआ वेतन का एरियर का भुगतान अगले माह में हो सकेगा क्योंकि इस माह में नवनियुक्त नियोजित शिक्षकों के वेतन का भुगतान करने के उपरांत खाते में पैसे की कमी को देखते हुए ऐसा किया जा सकता है। पैसे का आवंटन ना होने का दूसरा कारण यह भी है कि अभी अभी तुरंत नई सरकार का गठन हुआ है। मंत्रिमंडल के विस्तार होने जा रही है। विस्तार के उपरांत राशि का आवंटन होंगे तत्पश्चात वेतन  एवं एरियर का का भुगतान सभी जिलों के शिक्षकों को किया जाएगा।

जिलों से मांगा गया प्रारंभिक शिक्षकों का ब्योरा

पटना। राज्य के प्रारंभिक विद्यालयों के शिक्षकों का ब्योरा प्राथमिक शिक्षा निदेशालय ने जिलों से मांगा है। इसके लिए जिलों को चौबीस घंटे की मोहलत दी गयी है । इस बाबत प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश द्वारा सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों (स्थापना) को निर्देश दिये गये हैं । जिलावार ब्योरा फॉर्मेट में मांगा गया है । इसके तहत प्रारंभिक विद्यालयों में शिक्षकों के कुल स्वीकृत पद, कुल नियुक्ति, अल्पसंख्यक, कुल कार्यरत एवं कुल रिक्ति का ब्योरा मांगा गया है । यह जानकारी भी मांगी गयी है कि उर्दू एवं बांग्ला शिक्षकों के कुल कितने पद स्वीकृत हैं, कितने पद पर शिक्षक कार्यरत हैं और कितने पद रिक्त हैं ?

यह भी पढ़ें - राजकीय कर्मचारियों के साथ शिक्षकों को डीए के अलावा इन 4 भत्तों में मिलेगी बढ़ोतरी, सैलरी में आएगा बंपर उछाल,मिलेगा चार तोहफा एक साथ।

फिरसे चौधरी जी ही लौटेंगे न ?

1. नयी सरकार के गठन के साथ शिक्षक कर्मियों की जुबान पर सवाल।

पटना। शिक्षा विभाग में फिर से चौधरी जी ही लौटेंगेन ?

यह सवाल राज्य में नयी सरकार के गठन के साथ ही प्राथमिक विद्यालयों से लेकर विश्वविद्यालयों तक के शिक्षक कर्मियों की जुबान पर है। ऐसे ही कयास शिक्षा महकमे के अधिकारियों द्वारा भी लगाये जा रहे हैं। राज्य सचिवालय के शिक्षा विभाग में बुधवार को बड़े अधिकारियों से लेकर निचले पायदान के कर्मचारियों के बीच चर्चा का विषय यही था कि विभाग के मंत्री के रूप में फिर से विजय कुमार चौधरी ही लौटेंगे न ? दरअसल, इसके पहले वाली सरकार में विजय कुमार चौधरी ने जब शिक्षा मंत्री की कुर्सी संभाली थी, तो छठे चरण की शिक्षक नियुक्ति की प्रक्रिया इसलिए अटकी हुई थी कि दिव्यांगों के आरक्षण से जुड़ा मामला न्यायालय में चल रहा था।

यह भी पढ़ें - सुबे के नई सरकार ने नियोजित शिक्षकों को समान काम समान वेतन के साथ एसीपी, प्रोन्नति पर लगेगी मुहर ड्राफ्ट हुआ वायरल।

सरकार ने न्यायालय से नियुक्ति की अनुमति मांगी। इस बीच उन प्रारंभिक शिक्षक नियोजन इकाइयों में शिक्षक नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू हुई, जिनमें दिव्यांग अभ्यर्थियों के आवेदन नहीं पड़े थे। नियुक्ति की चल रही प्रक्रिया के बीच ही न्यायादेश भी आ गया और उसके बाद उन नियोजन इकाइयों में भी नियोजन प्रक्रिया शुरू हो गयी, जहां दिव्यांग अभ्यर्थियों के आवेदन पड़े थे। छठे चरण में 42 हजार से अधिक प्रारंभिक शिक्षक बहाल हो चुके हैं। प्रारंभिक से इतर छठे चरण की माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति की बात करें, अधिकांश नियोजन इकाइयों के माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षक पद के चयनित अभ्यर्थियों को 30 जुलाई को नियुक्ति पत्र बांटे जा चुके हैं। बाकी नियोजन इकाइयों में 26 अगस्त को नियुक्ति पत्र बांटे जाने हैं। सातवें चरण की शिक्षक नियुक्ति को लेकर भी तैयारियां चल रही हैं। तय फार्मूले।

यह भी पढ़ें - अब बन गई सरकार साढे चार लाख नियोजित शिक्षकों को मिलेगा समान काम समान वेतन शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर।

के तहत जिलों से रिक्तियां ली जा चुकी हैं। सातवें चरण की बहाली से सेंट्रलाइज आवेदन लिये जाने के साथ ही कई बड़े बदलाव होने वाले हैं। इसके लिए प्रस्तावित नियमावली का ड्राफ्ट भी तैयार है। आठवीं कक्षा पास शतप्रतिशत बच्चों के दाखिले के लिए एक जुलाई से 31 जुलाई तक राज्य के सभी 9,360 माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रवेशोत्सव' के नाम से नामांकन का विशेष अभियान चलाया गया। शिक्षक कर्मियों की समस्याओं के निराकरण के लिए जिला शिक्षा कार्यालयों हेतु शिड्यूल तय हैं। कोरोनाकाल के बाद स्कूलों में बच्चों को फिर से मध्याहन भोजन परोसे जा रहे हैं। इसकीगुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए जिलाधिकारी से लेकर पी. एम. पोषण योजना के निदेशक तक स्कूलों में बच्चों के साथ पंगत में बैठ रहे हैं। संबद्ध डिग्री कॉलेजों के एफलिएशन की प्रक्रिया ऑनलाइन शुरूकी गयी है। विश्वविद्यालयों के शिक्षक कर्मियों के वेतन सत्यापन की प्रक्रिया भी ऑनलाइन हो चुकी है।


Buy Amazon Product