बड़ी खबरें

 राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी राज्य के नियोजित शिक्षकों को वरीयता को लेकर शिक्षा मंत्री मुख्यमंत्री अपर मुख्य सचिव का संयुक्त बयान जारी सुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिलीसुबे के लाखों शिक्षकों को मिलेगी बड़ी राहत शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह को मिली शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं

राज्य के इन सभी नियोजित शिक्षकों की सेवा मुक्त करने की शिक्षा विभाग ने जारी कर दिया आदेश

राज्य के इन सभी नियोजित शिक्षकों की सेवा मुक्त करने की शिक्षा विभाग ने जारी कर दिया आदेश

1)बीडीओ को निर्देश • शिक्षकों को 31 मार्च 2019 तक प्रशिक्षण प्राप्त करने की अंतिम डेडलाइन मिली थी। 2)कुशेश्वरस्थान पूर्वी के 19 अप्रशिक्षित शिक्षकों को सेवामुक्त करने का आदेश। कुशेश्वरस्थान प्रखंड के 19 अप्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों को सेवामुक्त करने का आदेश डीपीओ स्थापना ने गुरुवार को जारी कर दिया। डीपीओ स्थापना संदीप रंजन ने बीईओ को जारी पत्र में संबंधित नियोजन इकाइयों को आदेश का पालन कराने का निर्देश दिया है। इसमें दो प्रखंड शिक्षक एवं 3 पंचायत नियोजन इकाइयों के 17 शिक्षकों का नाम शामिल है। इन शिक्षकों को प्राथमिक शिक्षा निदेशक के 12 नवंबर 2020 के आदेश के आलोक में सेवामुक्त करने का आदेश जारी किया है। सरकार ने सेवा प्राप्त अप्रशिक्षित शिक्षकों को 31 • मार्च 2019 तक प्रशिक्षण हासिल करने के लिए अंतिम डेडलाइन दिया था। इस बीच में सरकार ने अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए एनआईओएस के माध्यम से डीएलएड का विशेष सत्र का संचालन किया था। जिसमें जिले के हजारों अप्रशिक्षित शिक्षकों ने प्रशिक्षण हासिल किया था।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

डीएलएड की विशेष प्रशिक्षण की फाइनल परीक्षा में बड़ी संख्या में फेल होने पर फिर से परीक्षा देने का मौका दिया गया था। उसके बाद भी प्रशिक्षण हासिल नहीं करने वाले शिक्षकों को हटाया गया है। इससे पहले भी डीईओ के आदेश पर डीपीओ स्थापना की ओर से प्रखंडों को अप्रशिक्षित शिक्षकों को सेवामुक्त करने का आदेश जारी किया गया था। लेकिन अब तक किसी भी प्रखंड में अप्रशिक्षित शिक्षकों को सेवामुक्त करने की कार्रवाई नहीं की गई थी। इसके बाद दूसरे प्रखंडों के भी अप्रशिक्षित शिक्षकों को सेवामुक्त करने का सिलसिला शुरू होने की संभावना है। डीपीओ स्थापना के आदेश के बाद कुशेश्वरस्थान पूर्वी के प्रखंड शिक्षक संजीव कुमार व अंजू कुमारी को सेवामुक्त करने की कार्रवाई बीडीओ को पूरा करने को कहा गया है। इसी प्रकार पंचायत सचिव सुघराइन के 6 पंचायत सचिव इटहर के 10 और पंचायत सचिव उजुआ सिमरटोका के एक शिक्षक को सेवामुक्त की कार्रवाई पूरी करने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षक केलकुलेटर से बने वेतन निर्धारण को डाउनलोड कर गड़बड़ी होने पर आपत्ति दर्ज कर सकेंगे इस प्रकार।

इंटर: 152 मॉडल केंद्रों पर सिर्फ छात्राएं देंगी परीक्षा पटना | इंटरमीडिएट प्रायोगिक परीक्षा के साथ सैद्धांतिक परीक्षा की तैयारी शुरू हो चुकी है। इस बार इंटर में 1471 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं। इसमें 152 परीक्षा केंद्र मॉडल यानी आदर्श केंद्र के रूप में रहेंगे। इन केंद्रों पर केवल छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगी। बिहार बोर्ड की मानें तो पिछले साल यानी 2021 की तुलना में इंटर में तीन परीक्षा केंद्र कम रहेंगे। 2021 में 1474 परीक्षा केंद्र पर इंटर की परीक्षा आयोजित की गयी थी। ज्ञात हो कि इंटर सैद्धांतिक परीक्षा एक से 14 फरवरी तक चलेगी। इस बार 13 लाख 46 हजार 334 परीक्षार्थी शामिल होंगे। सबसे ज्यादा कला संकाय में सात लाख पांच हजार 934 परीक्षार्थियों ने फॉर्म भरा है। वहीं, विज्ञान संकाय में पांच लाख 78 हजार 762 और वाणिज्य संकाय में 61 हजार 83 परीक्षार्थी हैं। इस बार वोकेशनल में 555 परीक्षार्थियों ने फॉर्म भरा है। इंटर परीक्षा में सबसे ज्यादा पटना जिला से 78 हजार 961 परीक्षार्थी शामिल हैं। इसके लिए जिले भर में 84 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।


Buy Amazon Product