बड़ी खबरें

78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी।78 हजार केंद्रीय राज्य कर्मियों को 188 करोड़ से ज्यादा दिवाली बोनस के रूप में बड़ी धनराशि मिलेगी। राज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दियाराज्य के 80 हजार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को 18 अक्टूबर के होने वाले कार्यक्रमों के लिए निर्देशक प्राथमिक शिक्षा ने पत्र जारी कर दिया बेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहरबेसिक ग्रेड के नियोजित शिक्षकों को अब जल्द मिल सकेगा प्रमोशन का आ गया फैसला शिक्षकों में अत्यंत खुशी की लहर सरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धिसरकारी कर्मियों के साथ नियोजित शिक्षकों को भी सरकार ने दिया दिवाली से पहले धमाकेदार तोहफा DA में हुआ 4% की वृद्धि हो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबितहो जाएं सावधान, चहक कार्यक्रम में विभाग द्वारा भेजे गए सामग्री को गलत तरीके से लेने को लेकर शिक्षक हो रहे निलंबित 2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी2015 तक के बहाल नियोजित शिक्षकों को स्नातक ग्रेड में होगा प्रोन्नत वरीता के आधार पर वेतन में होगी बढ़ोतरी

नियोजित शिक्षकों के समान काम समान वेतन को 25 से 23 अगस्त को सीएम और डिप्टी सीएम समेत शिक्षा मंत्री को ईमेल के माध्यम से देंगे

नियोजित शिक्षकों के समान काम समान वेतन को 25 से 23 अगस्त को सीएम और डिप्टी सीएम समेत शिक्षा मंत्री को  ईमेल के माध्यम से देंगे

समान काम-समान वेतन के लिए सौंपा जायेगा ज्ञापन। 
आरा।
शहर के केजी रोड स्थित आदर्श मवि में शनिवार को बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिला इकाई की हुई। अध्यक्षता संघ के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह मंदु व संचालन प्रधान महासचिव राजेश कुमार सिंह ने किया। मौके पर संघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि समान काम समान वेतन और पुरानी पेंशन लागू करने के चुनावी वादे पूरी करने के लिए 23 से 25 अगस्त तक जिले के सभी शिक्षक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर को ई-मेल के माध्यम से अनुरोध पत्र भेजेंगे।

यह भी पढ़ें - केंद्रीय कर्मचारियों के साथ बिहार के कर्मचारी व शिक्षकों को सितंबर में एक साथ तीन तो तोहफे शिक्षकों के बल्ले बल्ले

प्रारंभिक विद्यालयों में रेडनेस मॉड्यूल 'चहक' होगा लागू। 
1)शिक्षकों को बीआरसी करपी में दो चरणों में दी जाएगी ट्रेनिंग।
 2)इस कार्यक्रम से विद्यालय में बच्चों का ठहराव बढ़ेगा और ड्रॉप आउट रुकेगा।
प्रखंड करपी। प्रखंड क्षेत्र के 146 सरकारी प्रारंभिक विद्यालयों के बच्चों को बुनियादी साक्षरता एवं संख्या ज्ञान में दक्ष बनाने के लिए पहली कक्षा में पढ़ने वाले हजारों बच्चों के लिए तीन महीने का स्कूल रेडनेस मॉड्यूल चहक लागू होगा।

प्रखंड कोऑर्डिनेटर साकेत कमल ने बताया कि एससीईआरटी पटना द्वारा विकसित स्कूल रेडनेस मॉड्यूल ह्यचहकह्न के क्रियान्वयन के लिए क्षेत्र के सभी प्रारंभिक विद्यालय के विद्यालय प्रधान एवं वर्ग एक के नामित शिक्षक को पांच दिवसीय गैर आवासीय ट्रेनिंग बीआरसी करपी में दो चरणों में दी जाएगी। पहला चरण 22 से 26 अगस्त तक तथा दूसरा चरण 31 अगस्त से 4 सितम्बर तक चलेगा। प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य बच्चों को विद्यालय के प्रति सहज बनाना है वर्तमान शैक्षणिक चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए गतिविधि आधारित शैक्षणिक तकनीक को प्रोत्साहन दिया जाएगा। बच्चे पढ़ाई में रुचि लें और विद्यालय में उनकी मुस्कुराहट बनी रहे इसलिए इस कार्यक्रम का नाम 'चहक' दिया गया है ।प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी परमानंद कुमार ने बताया कि इस कार्यक्रम के लागू होने के बाद बच्चे विद्यालय हंसते हुए आएंगे और चहकते हुए सीखेंगे। उनका विद्यालय में ठहराव बढ़ेगा एवं बच्चों का ड्रॉप आउट रुकेगा । विद्यालय में सीखने सिखाने का - माहौल बेहतर होने से सरकारी विद्यालय के प्रति लोगों का नजरिया बदलेगा उन्होंने क्षेत्र के अभिभावकों से अपने बच्चों का सरकारी विद्यालय नामांकन कराने की अपील की।

यह भी पढ़ें - अब मिलकर रहेगा समान काम समान वेतन आंदोलन की रूपरेखा हो गई तैयार, NPS का विरोध पुरानी पेंशन लागू

मिडे- मिल का चावल ग्रामीणों ने पकड़ा, हंगामा आक्रोश। 
सहदेई बुजुर्ग।
प्रखंड क्षेत्र के मध्य विद्यालय तोई मठ में विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारा चोरी छिपे मिड-डे-मिल योजना का चावल बेचा जा रहा था। जिसे ग्रामीणों ने पकड़ लिया और प्रधानाध्यापक सत्येन्द्र ठाकुर के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए जमकर हंगामा किया। लोगों ने घटना की सूचना प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी और सहदेई ओपी की पुलिस को दिया।
 सहदेई ओपी की पुलिस पदाधिकारी और बीईओ अवधेश कुमार के साथ स्काउट गाइड के प्रभारी नंदन कुमार चंदन पहुंचे और पूरे मामले की जांच की। पदाधिकारियों को ग्रामीणों ने बताया कि विद्यालय के प्रधानाध्यापक सत्येन्द्र ठाकुर मोटर ठेला से एलमुनियम के पतीला में छिपाकर एक बोरा चावल को बेचने के लिए भेज रहे थे। जिसे उनलोगों ने पकड़ लिया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि प्रधानाध्यापक सत्येंद्र ठाकुर के लगातार इस प्रकार की घटना को अंजाम देते रहते हैं।

 

यह भी पढ़ें - नियोजित शिक्षकों के समान काम समान वेतन को लेकर महागठबंधन से आ गया बड़ा अपडेट शिक्षकों में खुशी की लहर

 ग्रामीणों ने प्रधानाध्यापक पर मिड-डे मिल योजना में भी भारी अनियमितता एवं गड़बड़ी की शिकायत करते हुए कानूनी कार्रवाई की मांग की। इन सबों में रसोइया के संलिप्त होने के बारे मैं भी ग्रामीणों ने पदाधिकारियों को बताया उधर, ग्रामीणों ने जैसे ही चावल  को बकरा और हंगामा शुरू किया कि प्रधानाध्यापक बाइक को विद्यालय परिसर में छोड़कर भाग गए। बीइओ के निर्देश पर प्रधानाध्यापक की बाइक को बीआरसी पर लाया गया। मालूम हो कि इसके पहले भी इस विद्यालय में अनियमितता को लेकर ग्रामीणों ने प्रधानाध्यापक पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए हंगामा किया था। प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अवधेश कुमार ने बताया कि दूरभाष पर विद्यालय शिक्षा समिति के अध्यक्ष और सचिव ने इस घटना की सूचना दी थी। कहा कि वह पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। फिलहाल प्रधानाध्यापक को तत्काल प्रभाव से मुक्त कर दिया गया है। साथ ही वेतन बंद किया जा रहा है। प्रधानाध्यापक सत्येंद्र कुमार ठाकुर के विरुद्ध अग्रेतर कार्रवाई के लिए वह उच्च अधिकारी को पत्र लिखेंगे।


Buy Amazon Product