बड़ी खबरें

शिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगाशिक्षकों को मिली खुशखबरी सरकारी स्कूल के संचालन में हुआ भारी परिवर्तन जान ले अब कितने बजे तक स्कूल चलेगा 2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा2006 से लेकर अब तक के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ी खबर मिलेगी सरकारी राज्य कर्मी का दर्जा खुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूचीखुशखबरी शिक्षकों के लिए प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षा विभाग ने अवकाश तालिक में हुआ भारी परिवर्तन जारी हुआ सूची प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएंप्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक दिए गए लिंक पर जाकर जल्द सूचना प्राप्त कर लें आप कहीं छूट ना जाएं शिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसलाशिक्षकों को भी पुरानी पेंशन योजना शीघ्र लागू हो इस पर लिया गया बड़ा फैसला सभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतानसभी जिलों में शिक्षकों के लिए दिसंबर महीने का वेतन एवं अंतर राशि के लिए 11 अरब 92 करोड़ 85 लाख का हुआ आवंटन अब होगा भुगतान

मामला एसडीओ एवं एसडीपीओ तक पहुंचा शिक्षा विभाग में मच गई खलबली क्या होगा अब ?

मामला एसडीओ एवं एसडीपीओ तक पहुंचा शिक्षा विभाग में मच गई खलबली क्या होगा अब ?

वायरल आडियो मामले में निलंबित किए जा चुके हैं। मधेपुरा: मुरलीगंज के बीईओ हाल ही में हुए शिक्षक नियोजन में कथित रूप से एक अभ्यर्थी से मुरलीगंज के बीईओ सूर्य प्रसाद यादव द्वारा बहाली के नाम पर आठ लाख रुपए की मांग करने के मामले में वे लगातार फंसते जा रहे हैं। एक तरफ जहां शिक्षा विभाग ने उन्हें निलंबित कर दिया है, वहीं उनके खिलाफ लग आरोपों की अब विस्तृत जांच शुरू की गई है। डीपीआरओ अभिषेक राज ने बताया कि जिलाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने इस मामले की वृहत जांच के लिए सदर एसडीएम और एसडीपीओ को निर्देश दिया है। दोनों को संयुक्त रूप से जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। दूसरी ओर डीईओ वीरेंद्र कुमार ने भी मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई है। कमेटी में डीपीओ स्थापना सुनील कुमार, डीपीओ एमडीएम शिवशंकर मिस्त्री और कुमारखंड के बीएओ गुणानंद सिंह को शामिल किया गया है। पदाधिकारियों से तीन दिन के अंदर मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। डीईओ ने बताया कि बीईओ सूर्य प्रसाद यादव से शो-कॉज पूछा गया था, जिसका जवाब उन्होंने नहीं दिया।

शिक्षा विभाग में मची हुई है खलबली |
दरअसल, वायरल ऑडियो में मुरलीगंज के बीईओ सूर्य प्रसाद यादव की आवाज में एक कथित अभ्यर्थी से बातचीत में शिक्षक बहाली के नाम पर आठ लाख रुपए की मांग की जा रही है। ऑडियो में कहते सुना जा रहा है कि उन्होंने अपने बल पर कई ऐसे संबंधियों को भी शिक्षक बनाया है, जो जेल जा चुके हैं और उन्हें कुछ भी नहीं आता है। वे अधिक रुपए खर्च कर अपना काम कराते हैं और फिर लोगों का काम करते हैं। दूसरी और मामले के एक पक्षकार पंकज यादव ने अब अपना वीडियो बयान जारी कर कहा है कि उनका मोबाइल एक पंचायत में छूट गया था, जहां से किसी ने वायरल कर दिया है। यह ऑडियो फेंक है।

नियमित के साथ दूसरी डिग्री कोर्स करने की होगी छू।
राज्य: उच्च शिक्षण संस्थानों में अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों के लिए यह अच्छी खबर है। यदि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की प्रस्तावित योजना पर आने वाले शैक्षणिक सत्र में राज्य के विश्वविद्यालयों में अमल हुआ तो एक या दो अलग विधाओं में एक साथ दो डिग्री कोर्स मिल सकेगा। फिलहाल यूजीसी ने इसकी मंजूरी दे दी है। इससे जल्द ही छात्र एक साथ दो डिग्री कोर्स की पढ़ाई कर सकेंगे। हालांकि इसमें से एक कोर्स नियमित पाठ्यक्रम के तहत होगा तो दूसरा डिग्री कोर्स आनलाइन डिस्टेंट लर्निंग कोर्स के जरिए किया जा सकेगा। यूजीसी की इस नई व्यवस्था पर विश्वविद्यालयों में अमल कराने हेतु कुलपतियों से सुझाव मांगे गए हैं।

अधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के मुताबिक विद्यार्थियों को दो डिग्री कोर्स एक साथ करने की इजाजत देने वाले प्रस्ताव को यूजीसी की ओर से मंजूरी मिलने पर कुलपतियों के सुझाव आने पर कुलाधिपति कार्यालय उसकी समीक्षा करेगा। यूजीसी ने प्रविधान में एक ही विश्वविद्यालय या अलग-अलग विश्वविद्यालयों में डिस्टेंट मोड, आनलाइन मोड और पार्ट टाइम मोड में पाठ्यक्रम निर्धारित किए गए हैं। एक विद्यार्थी जिसका यूनिवर्सिटी के नियमित डिग्री पाठ्यक्रम के लिए पंजीकरण हुआ हो, वो विद्यार्थी साथ-साथ एक अतिरिक्त डिग्री कोर्स भी कर सकता है, लेकिन वह कोर्स ओपन यूनिवर्सिटी या डिस्टेंट मोड में उसी विश्वविद्यालय या किसी अन्य विश्वविद्यालय से होना चाहिए। इस विकल्प के होने से य काफी राहत मिलेगी।


Buy Amazon Product